‘पद्मावती’ विवाद पर बोले शाहिद कपूर- ऐसी फिल्म दिल और आत्मा झोंकने पर ही बनती है – Shahid Kapoor Statement on Padmavati Controversy: Creative People Should not be Scared

शाहिद कपूर की हालिया फिल्म ‘पद्मावती’ भले ही विवादों में फंस गई हो और अब भी इसकी रिलीज की बाट जोही जा रही हो लेकिन अभिनेता का कहना है कि रचनात्मक लोगों को डरना नहीं चाहिए, क्योंकि कला डर से नहीं पैदा होती है। संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावती’ की रिलीज को लेकर विवाद हो गया है, क्योंकि कई संगठनों का आरोप है कि फिल्म में इतिहास को ‘तोड़ मरोड़ कर’ पेश किया गया है। फिल्म का हिस्सा रहने के कारण भंसाली और दीपिका दोनों को जान से मारने की धमकी भी मिली है।

क्या भविष्य में किसी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि वाली फिल्म का हिस्सा बनने से शाहिद डर महसूस करेंगे? इस सवाल पर शाहिद ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘उड़ता पंजाब’ तो ऐतिहासिक पृष्ठभूमि वाली फिल्म नहीं थी लेकिन उसे लेकर भी काफी विवाद हुआ था। मुझे नहीं लगता कि डर सही शब्द है। मुझे नहीं लगता कि रचनात्मक लोगों को डरना चाहिए क्योंकि अगर आप पर दबाव बनाया गया तो आप कोई रचना नहीं कर सकते हैं। जब तक आप खुला और आजाद महसूस नहीं करेंगे तब तक आप रचना नहीं कर सकते हैं और मेरा मानना है कि कला समाज की झलक पेश करती है।’’

संबंधित खबरें

अभिनेता ने कहा कि वह उन सभी लोगों के शुक्रगुजार हैं जो फिल्म के समर्थन में सामने आए। उन्होंने कहा, ‘‘… ऐसी फिल्म के लिए जब तक आप अपना दिल और अपनी आत्मा नहीं झोंकेंगे तब तक ‘पद्मावती’ जैसी फिल्म आप नहीं बना सकते।’’ अभिनेता बीती रात रीबॉक के फिट टू फाइट पुरस्कार समारोह के दौरान बोल रहे थे।

दूसरी तरफ ‘पद्मावती’ में तथ्यों के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई है, इस बात की तसल्ली करने के लिए अब मोदी सरकार ने इतिहासकारों की मदद लेने का फैसला किया है। अंग्रेजी न्यूज पोर्टल एशियन एज की एक रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से जानकार इतिहासकारों की लिस्ट मांगी है जो कि दीपिका पादुकोण स्टारर फिल्म में विवादित कंटेंट तलाशने फिल्टर करने के लिए बनाई गए पैनल का हिस्सा बनाए जा सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *