Know about Dev Anand Love Story with Bollywood Singer and Actress Suraiya – इस एक्ट्रेस से जब टूटा देव आनंद का रिश्ता तो भाई के कंधे पर सिर रख खूब रोए थे

‘लगता है आज हर इच्छा पूरी होगी… पर मजा देखो… आज कोई इच्छा ही नहीं है’ ‘गाइड’ फिल्म का यह डायलॉग और ऐसे न जाने कितने डायलॉग्स देव आनंद साहब को आज भी हमारे बीच होने का एहसास करा देते हैं। बॉलीवुड के सहाबहार एक्टर देव आनंद को फिल्मों में लंबे-चौड़े डायलॉग्स बोलने के लिए भी जाना जाता था। देव साहब बी-टाउन के ऐसे स्टार थे जिन्होंने ने बॉलीवुड को अलग ही अंदाज में जिया है। उन दिनों उनके स्टाइल से लेकर उनके चार्म की चर्चा आम बात थी। साथ ही देव आनंद अक्सर कई एक्ट्रेसेस से अफेयर के चलते भी सुर्खियों में रहते थे। आइए आज हम उस एक्ट्रेस के बारे में बताते हैं जिसके प्यार में देव साहब इतने दीवाने थे कि रिश्ता टूटने के बाद भाई के कंधे पर सिर रखकर खूब रोए थे।

अपने जमाने की मशहूर और खूबसूरत एक्ट्रेस जीनत अमान और देव आनंद के रिलेशनशिप के बारे में तो सभी जानते हैं। काफी लंबे समय तक दोनों स्टार्स का नाम एक-दूसरे से जुड़ा रहा था। देव साहब जीनत से प्यार करते थे। जीनत अमान के अलावा भी देव साहब की जिंदगी में एक और एक्ट्रेस ऐसी थी जिससे वह बहुत प्यार करते थे। हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड एक्ट्रेस सुरैया की।

सुरैया को हिंदी फिल्मों में एक्टिंग के साथ-साथ सिंगिंग के लिए भी जाना जाता था। उन्होंने उस दौर में कई हिट फिल्मों में काम किया है। ‘प्यार की जीत’, ‘बड़ी बहन’ और ‘दिल लगी’ ये फिल्में सुरैया की अहम फिल्में थीं क्योंकि इन फिल्में ने सुरैया को पहचान दिलाई थी।

सुरैया की फिल्म जीत (1949) और दो सितारे (1951) खास और यादगार फिल्में हैं क्योंकि कहा जाता है कि फिल्म जीत के सेट पर ही देव आनंद ने सुरैया से अपने प्यार का इजहार किया था। ‘दो सितारे’ इस जोड़ी की आखिरी फिल्म थी।

बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में सुरैया का जिक्र करते हुए देव साहब कहते हैं कि सुरैया एक बहुत बड़ी स्टार थी। मैं तो ट्रेन में जाता था, वो लिमोज़ीन जैसी बड़ी गाड़ियों में घूमती थी। देव साहब कहते हैं कि मैं और सुरैया एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे लेकिन सुरैया के माता-पिता को यह रिश्ता मंजूर नहीं था।

इस इंटरव्यू में देव साहब ने बताया कि जब उन्हें पता चल गया कि अब यह रिश्ता पूरी तरह टूट गया है तो वह अपने भाई के कंधे पर सिर रखकर खूब रोए थे। सुरैया को ना पाकर देव आनंद काफी निराश रहने लगे थे लेकिन वक्त के साथ देव साहब ने जीना सीख लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *