Mukkabaaz Movie Review in Hindi: Anurag Kashyap Movie Jimmy Shergill and Vineet Kumar Starrer Mukkabaaz is based on Bad Politics with sports player – Mukkabaaz Movie Review: खिलाड़ियों के साथ होने वाली ज्यादती पर आधारित है अनुराग कश्यप की ‘मुक्काबाज’

अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मुक्काबाज’ इस शुक्रवार यानी 12 जनवरी को रिलीज होने जा रही है। यह फिल्म इरोज इंटरनेश्नल और आनंद एल राय की पेशकश है। फिल्म में मुख्य भूमिका में विनीत कुमार, राजेश तेलैंग, जिमी शेरगिल, जोया हुसैन हैं। जिमी शेरगिल इस बॉक्सिंग मेलोड्रामा में निगेटिव रोल में नजर आ रहे हैं। अनुराग की फिल्म ‘मुक्काबाज’ में खिलाड़ियों के साथ होने वाली राजनीति को दर्शाया गया है।  फिल्म एक ऐसे लड़के की कहानी है जो बॉक्सिंग की दुनिया में कुछ कमाल करना चाहता है। श्रवण सिंह को बेस्ट मुक्केबाज माना जाता है।

गरीब श्रवण मुक्केबाजी में और मजबूत बनने के लिए ट्रेनिंग लेने भगवानदास मिश्रा (जिमी शेरगिल) के पास पहुंचता है। जहां श्रवण को ट्रेनिंग देने की बजाय उससे फिजूल के काम काज कराए जाते हैं। तंग आ कर श्रवण भगवान दास को ही मुक्का मार देता है। इसके बाद श्रवण की जिंदगी आसान नहीं रहती। भगवानदास मानता है कि श्रवण बरेली का बेस्ट मुक्केबाज है। लेकिन वह उसे आगे नहीं जाने देना चाहता। इसके चलते कहा जाता है कि श्रवण नेशनल लेवल तो क्या डिस्ट्रिक लेवल भी नहीं खेल पाएगा।

बड़ी खबरें

इस पर श्रवण कहता है, ‘नाम भगवान होने से कोई भगवान नहीं हो जाता।’ वहीं बरेली में बॉक्सिंग के माइक टाइसन कहे जाने वाले श्रवण को पास की ही लड़की से मोहब्बत है। ये मोहब्बत श्रवण को बॉक्सिंग के लिए बढ़ावा देती है। श्रवण अपनी जिंदगी में वो मुकाम कैसे हासिल करता है जिसे वह चाहता है। ये जानने के लिए फिल्म देखना जरूरी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *