When Nelson Mandela was afraid about Anil Kapoor’s behavior – अनिल कपूर के इस बर्ताव से घबरा गए थे नेल्सन मंडेला, फिर सच्चाई जान लगाया था गले

झक्कास एक्टर अनिल कपूर बॉलीवुड के ऐसे हीरो हैं जिनकी बढ़ती उम्र का कोई असर नहीं दिखता। 60 साल की उम्र में भी उनमें यंगस्टर्स जैसी एनर्जी है। वहीं अनिल कपूर की एक्टिंग आज भी उनके फैंस को पसंद आती है। उनकी सीरियस एक्टिंग से उनके तजुर्बे का अंदाजा हो जाता है। बात अनिल कपूर की हो रही है तो चलिए आज हम आपको उनसे जुड़ा एक रोचक किस्सा बताते हैं जब वह पहली बार नेल्सन मंडेला से मिले थे। अनिल कपूर ने उस वक्त नेल्सन मंडेला के सामने कुछ ऐसा किया कि वह घबरा गए थे।

दरअसल साल 2007 में रिलीज हुई फिल्म ‘गांधी माई फादर’ को अनिल कपूर ने प्रोड्यूस किया था। इस फिल्म के सिलसिले में साल 2005 में अनिल कपूर को अफ्रिका जाना पड़ा। अफ्रिका जाने के बाद अनिल की मुलाकात वहां के मिनिस्टर युसुफ प्रहर से भी हुई थी। अनिल कपूर ने युसुफ को बताया कि वह नेल्सन मंडेला से मिलना चाहते हैं क्या वह उनसे मिलने के लिए मदद कर सकते हैं।

संबंधित खबरें

युसुफ प्रहर की जुगत से अनिल कपूर को नेल्सन मंडेला से मिलने का समय मिल गया और 13 जुलाई 2005 को मीटिंग तय हुई। अनिल अपने कुछ साथियों के साथ उनसे मिलने पहुंचे। जब अनिल कपूर नेल्सन मंडेला से मिले तो उनके पैर छूने के लिए नीचे झुके। नेल्सन मंडेला ने शायद ऐसा कुछ सोचा नहीं था इसलिए अनिल को अपने सामने झुकता देख वह घबरा गए और पीछे हटते हुए कहा कि वह क्या कर रहे हैं?

उस वक्त अनिल कपूर ने नेल्सन मंडेला से जो कहा उसे जानकर उन्होंने अनिल से हाथ नहीं मिलाया बल्कि सीधा गले लगा लिया था। अनिल ने उन्हें जवाब में कहा था कि जब हम भारतीय अपने किसी बड़े से मिलते हैं तो अभिवादन आदर में उसके चरण स्पर्श करके करते हैं। यह बात सुन मंडेला काफी प्रभावित हुए हाथ नहीं मिलाया बल्कि गले लगा लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *