When the director gave first chance Shashi Kapoor to film direction with acting to save money – लंदन जा रहे थे शशि कपूर, इस डायरेक्टर ने पैसे बचाने के लिए एक्टिंग के साथ फिल्म भी डायरेक्ट करा ली

शशि कपूर ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत साल 1944 में पिताजी के पृथ्वी थिएटर के नाटक शकुंतला से की थी। 40 के दशक में उन्होने कई फिल्मों में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में काम किया था। इनमें 1948 में प्रदर्शित फिल्म ‘आग’ और 1951 में प्रदर्शित फिल्म ‘आवारा’ शामिल हैं, जिसमें उन्होंने राज कपूर के बचपन की भूमिका निभाई थी। 60 के दशक में शशि कपूर की इमेज चॉकलेटी हीरो की बन गई थी लेकिन उन फिल्मों के लीड हीरो दिलीप कुमार, देव आनंद, राज कपूर, राजेंद्र कुमार और मनोज कुमार होते थे। साल 1961 में रिलीज यश चोपड़ा की फिल्म ‘धर्मपुत्र’ से शशि कपूर ने बतौर लीड हीरो काम किया था। चलिए आज हम आपको शशि कपूर से जुड़ा एक रोचक किस्सा बताते हैं। जब किसी दूसरे काम से लंदन जा रहे शशि कपूर से एक डायरेक्टर ने फिल्म में एक्टिंग के साथ डायरेक्शन भी करवा लिया था।

संबंधित खबरें

दरअसल यह वाकया साल 1962 में रिलीज हुई फिल्म प्रेम पत्र की शूटिंग के दौरान का है। इस फिल्म में शशि कपूर लीड हीरो थे और उनके अपोजिट एक्ट्रेस साधना नजर आई थीं। इस फिल्म के डायरेक्टर थे बिमल रॉय। कम लोग ही जानते हैं कि डायरेक्टर बिमल रॉय की वजह से ही पहली बार शशि कपूर को फिल्म डायरेक्ट करने का मौका मिला था।

हुआ कुछ यूं था कि फिल्म प्रेम पत्र के कुछ सीन लंदन में शूट होने थे। बिमल रॉय ने फिल्म में काम आने वाले इक्यूपमेंट और टीम लंदन में ही अरेंज कर ली थी। ताकि भारत से लंदन लाने ले जाने में लगने वाला ज्यादा से ज्यादा खर्च बचाया जा सके। तभी बिमल रॉय को मालूम हुआ कि शशि कपूर किसी काम से लंदन जा रहे हैं।

तब डायरेक्टर बिमल रॉय ने शशि कपूर से फिल्म में एक्टिंग के साथ-साथ डायरेक्शन का भी काम करा लिया था। जब बिमल रॉय ने भारत में वह सीन देखे तो उन्हें काफी पसंद आए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *