अनुशासनहीनता के लिए भारतीय सेना ने तोड़े रंगरूटों के फोन, चीनी मीडिया ने बदनाम करने के लिए वायरल किया वीडियो – Army centre smashes mobiles of trainee soldiers who violated rules

सेना की कुछ रेजीमेंटल सेंटर्स में रंगरूटों के मोबाइल तोड़े गए हैं। एेसा उनके बीच यह संदेश पहुंचाने के लिए किया गया है कि आर्मी के ट्रेनिंग प्रोग्राम के दौरान किसी तरह की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। टीएनएन के मुताबिक यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि कुछ दिनों पहले एेसे ही एक मामले का वीडियो वायरल हो गया था। भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए यह वीडियो शुक्रवार को चीन के ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क की वेबसाइट पर भी अपलोड हुआ था। इसमें दिखाया गया कि मध्य प्रदेश के सागर के महर रेजीमेंटल सेंटर में 50 रंगरूटों के मोबाइल फोन को उन्हीं के सामने पत्थरों और चट्टानों पर रखकर तोड़ दिया गया। यह वीडियो सितंबर 2015 में शूट किया गया था। इस पर सफाई देते हुए सेना के अफसरों ने कहा कि यह कदम इसलिए उठाया गया, क्योंकि रंगरूट बार-बार आदेशों का उल्लंघन करते हैं। फिजिकल ट्रेनिंग, ड्रिल और वेपन-ट्रेनिंग क्लासेज के दौरान मोबाइल फोन इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं है।

संबंधित खबरें

एक वरिष्ठ अफसर ने कहा कि सेना में अनुशासन सबसे अहम है। रंगरूटों को सबसे पहले चेतावनी दी जाती है। अगर वह फिर भी नियम तोड़ते हैं तो उनका फोन जब्त कर लिया जाता है। लेकिन अगर फिर वह नहीं मानते तो स्पष्ट संदेश देने के लिए उनका फोन नष्ट कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि सेना अपने सैनिकों को जंग के लिए तैयार करती है। अगर उन्हें शांति के दौरान अनुशासन तोड़ने की इजाजत दी जाएगी तो वह एेसा जंग के समय भी कर सकते हैं।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *