कमला मिल हादसे पर बोलीं हेमा मालिनी- पुलिस तो ठीक काम कर रही, मुंबई की आबादी ही है ज्‍यादा – Mumbai Kamala Mills Building Fire Updates News in Hindi: BJP MP Hema Malini says growing population responsible for fire incidents mumbai police working fine

मुंबई के कमला मिल हादसे में आग की वजह से 14 लोगों की मौत पर बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने कहा है कि ऐसे हादसों की वजह बढ़ती हुई आबादी है। हेमा मालिनी ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, ‘ये वाकया बढ़ती हुई आबादी की वजह से हुआ है, ऐसा नहीं है कि पुलिस काम नहीं कर रही है, वो शानदार काम करते हैं, लेकिन बावजूद इसके आबादी बहुत ज्यादा है और ये लगातार बढ़ रही है, मुंबई फैलती जा रही है।’ बीजेपी सांसद ने कहा कि इस हादसे के लिए बीएमसी अधिकारी जिम्मेदार हैं, आखिर उन्होंने इसकी इजाजत कैसे दी? हेमा मालिनी ने कहा कि सरकार को हर शहरों की आबादी की सीमा तय करनी पड़ेगी, इसके बाद उस शहर में लोगों की एंट्री बंद करनी पड़ेगी। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा, ‘देखिए बंबई कहां थी और कहां चली गई, लगातार फैलती जा रही है, इसलिए सबसे पहले हर शहर की आबादी तय किये जाने की जरूरत है, आबादी पर रोक लगाने की जरूरत है, अगर एक शहर की आबादी की क्षमता पूरी हो जाती है तो इस शहर में रोक लगनी चाहिए, फिर लोगों को दूसरे शहर में जाने देना चाहिए, उसके बगल वाले शहर में।’

संबंधित खबरें

इससे पहले राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने शुक्रवार को कहा था कि कमला मिल भूल-भुलैया सा है, यहां पर एक बार जाने के बाद निकलना मुश्किल होता है। बता दें कि मुंबई के गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात आग लगने के कारण 14 लोगों की मौत हो गई और 23 अन्य घायल हो गए। मारे गए लोगों अपना जन्मदिन मना रही महिला भी शामिल है। बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) आपदा नियंत्रण के मुताबिक, दक्षिण मुंबई के लोअर परेल क्षेत्र में स्थित पॉश कमला ट्रेड हाउस में रूफटॉप रेस्तरां पब बिस्ट्रो द मोजो में देर रात 12.30 बजे आग लगने की खबर मिली। आग तेजी से फैली और पास में स्थित एक अन्य पब और रेस्तरां को अपनी चपेट में ले लिया। यह सभी कमला मिल परिसर में स्थित हैं। आग फैलने से 200 से अधिक लोग फंस गए। पीड़ितों में खुशबू मेहता नामक महिला भी शामिल है जोकि दोस्तों के साथ रेस्तरां में अपना 28वां जन्मदिन मनाने गईं थीं। उनके परिवार ने इसकी पुष्टि की है। बीएमसी अधिकारी ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 12 से अधिक गाड़ियां दुर्घटनास्थल पर पहुंची। सुबह करीब 6.30 बजे आग पर नियंत्रण पाया गया। अधिकांश पीड़ितों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि दमकल कर्मचारी 10 अन्य लोगों को आग से बचाने में कामयाब रहे।

घायलों को इलाज के लिए केईएम अस्पताल, भाटिया अस्पताल, ऐयरोली बर्न्‍स अस्पताल में दाखिल कराया गया, जबकि मामूली रूप से घायल दो लोगों को सियोन अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। केईएम अस्पताल के डीन अविनाश सुपे ने कहा कि पीड़ितों के पोस्टमार्टम से पता चला है कि ज्यादातर लोगों की मौत जलने से अधिक दम घुटने के कारण हुई है। मुंबई पुलिस ने पास के एक पब के मालिक पर लापरवाही एवं अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि आग संभवत: शॉर्ट सर्किट के कारण लगी। आग लगने के कारण कई प्रमुख कंपनियों व टीवी-रेडियो-प्रिंट मीडिया कार्यालयों, तीन दर्जन से अधिक रेस्तराओं, पब आदि को भी नुकसान पहुंचा है। परिसर में मौजूद टाइम्स नेटवर्क के सभी प्रमुख चैनलों के कार्यालय भी प्रभावित हुए और सभी कर्मचारियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *