कुलभूषण केस पर टीवी डिबेट: ‘आप एक डॉग हैं, जिसे रेबीज हो गया है’ – Kulbhushan Jadhav tv debate Indian panelists thrashes Pakistani ex admiral Javed iqbal for mistreating Jadhav family

भारतीय नौ सेना के पूर्व ऑफिसर कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ बदसलूकी का मामला मीडिया में जोर शोर से चल रहा है। भारत ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ पाकिस्तानी में हुई बेअदबी पर पड़ोसी देश को कड़ी फटकार लगाई है। इसी मुद्दे पर हो रहे एक टीवी डिबेट में भारतीय पैनलिस्ट ने पाकिस्तानी रक्षा विशेषज्ञ और पाकिस्तानी सेना के पूर्व एडमिरल जावेद इकबाल को कड़ी फटकार लगाई है। दरअस जावेद इकबाल बहस के दौरान इस बात को मानने के लिए ही तैयार नहीं थे कि कुलभूषण के परिवार के साथ ज्यादती की गई। उल्टे वे पाकिस्तानी अधिकारियों के कदम को सही ठहरा रहे थे। इससे भारत की ओर से बहस कर रहे पैनलिस्ट डॉ रिजवान अहमद ने कहा, ‘मेरा ये मानना है आप एक डॉग हैं जिसे रेबीज हो गई रेबीज, अब ये बताइए मैं राइट हूं या रॉन्ग हूं।’ रिजवान अहमद ने कहा कि आपके पास ना संस्कार है ना तमीज, सिर्फ बातें बड़ी-बड़ी करते हैं। रिजवान अहमद ने कहा कि जब तुम बीमारी से पीड़ित होंगे तो इलाज कराने के लिए मेदांता ही आवोगे।

संबंधित खबरें

बहस के बीच में एंकर ने भारतीय पैनलिस्ट को चुप कराने की कोशिश की, लेकिन पाक पैनलिस्ट जावेद इकबाल द्वारा बार-बार भड़काऊ बयान दिये जाने की वजह से वह बोलते ही रहे। एंकर ने कहा कि पाकिस्तानियों की बेसिर-पैर की बातें सुनकर उन्हें भी गुस्सा चढ़ता है, लेकिन वे चुप रह जता हैं, एंकर ने कहा कि हमें मर्यादा का ख्याल रखते हुए पाकिस्तान को जवाब देना है। पाकिस्तानी सेना के पूर्व एडमिरल जावेद इकबाल ने भारत पर ब्लूचिस्तान और कराची में हमले करवाने के झूठे और बेबुनियाद आरोप लगाये।

रक्षा विशेषज्ञ जीडी बख्शी ने भी पाकिस्तानी नेवी के मुखिया को खरी-खोटी सुनवाई। जीडी बख्शी ने कहा कि वे पहली बार सुन रहे हैं कि पाकिस्तान एक शख्स पर लगे आरोपों की सजा उसके परिवार वालों को देता है। बता दें कि जब कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी अपने बेटे और पति से मिलने इस्लामाबाद गई थी उस दौरान वहां पर पाकिस्तानी अधिकारियों ने उनके मंगलसूत्र, चूड़ियां, और बिंदी उतरवा लिये थे। यहां तक कि कुलभूषण जाधव की पत्नी के जूते भी पाकिस्तानियों ने खुलवा लिये थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *