नरेंद्र मोदी ने माना- आसान नहीं थी गुजरात की जीत, सीटें कम होने की चिंता नहीं – PM Narendra Modi accepts winning Gujarat election was not easy as challenge from Rahul Gandhi led Congress was tough

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी सांसदों को आगाह किया है और कहा है कि वे किसी भ्रम में नहीं रहे, गुजरात की जीत आसान नहीं थी। पीएम मोदी ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक में बीजेपी सांसदों को संबोधित कर रहे थे। बैठक में मौजूद एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘पीएम मोदी ने सांसदों को याद दिलाया कि गुजरात की कामयाबी आसान नहीं थी, गुजरात में जीत सिलसिला जारी रखने में बेहद कठिन परिश्रम और समर्पण की जरूरत पड़ी है।’ पीएम मोदी ने सांसदों को बताया कि गुजरात जीत को लेकर किसी को भ्रम में नहीं रहना चाहिए। इस दौरान पीएम मोदी ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश के सांसदों से मुलाकात की और इन राज्यों में विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज करने के लिए उन्हें बधाई दी। बता दें हाल में खत्म हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश में तो प्रचंड जीत हासिल की है, लेकिन पीएम मोदी के गृह राज्य गुजरात में सत्ता हासिल करने में बीजेपी के पसीने छूट गये। 182 सदस्यों की विधानसभा में बीजेपी ने पिछली बार से 16 सीटें कम हासिल की और पार्टी के 99 विधायकों ने जीत हासिल की। ठीक इसके उलट कांग्रेस ने अपने खाते में 16 विधायकों को जोड़ा और पार्टी का आंकड़ा 77 पहुंच गया।

संबंधित खबरें

हालांकि पीएम मोदी ने सांसदों को कहा कि ज्यादा चिंता की बात नहीं है क्योंकि भले ही बीजेपी की सीटें कम हुई हो, लेकिन पार्टी का वोट शेयर बढ़ा है। पीएम ने कहा कि जितने लोगों ने इस चुनाव में मतदान किया है उसमें से आधा लोगों ने बीजेपी को वोट दिया है। सांसदों से बात करते-करते पीएम मोदी एक बार भावुक भी हो गये। उन्होंने कहा, ‘इंदिरा के पास भारत के 18 राज्य थे, बीजेपी के पास 19 हैं।’ पीएम मोदी ने पार्टी के अंदर और बाहर युवा चेहरों को तरजीह देने पर जोर दिया। सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की ओर इशारा करते हुए कहा उन्होंने कैसे पार्टी को अपने खून पसीने से सींचा है, हालांकि वह उम्र में उनसे 14 साल छोटे हैं।

इस बैठक में अमित शाह ने अपने संबोधन में पीएम मोदी की तारीफ की और बीजेपी की जीत में उनके रोल को रेखांकित किया। उन्होंने कहा, ‘पीएम मोदी ने इस चुनाव में एक कार्यकर्ता की तरह काम किया, और उन्होंने रैलियां करने से कभी मना नहीं किया। बैठक में अमित शाह ने कांग्रेस पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा कि हार में जीत खोजने की कांग्रेस की कोशिश पर सिर्फ हंसा ही जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *