नोटबंदी पर लगी बैंक की कतार में जन्‍मा ‘खजांची’ हुआ एक साल का, अखिलेश ने इस तरह किया याद akhilesh yadav attacks on modi on khajanchi first birth anniversary

नोटबंदी के दौरान कई घटनाएं हुईं थीं। उसी में से एक है बैंक की कतार में ‘खजांची’ का जन्म होना। बैंक की कतार में पैदा होने के कारण मां-बाप ने बच्चे का नाम खजांची रख दिया था। वह एक साल का हो गया है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उसे याद करते हुए प्रधानमंत्री पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट किया कि खजांची एक साल का हो गया, लेकिन उसके घरवालों का खाता आज भी खाली है। उनका ट्वीट सामने आते ही लोग उन्हें ट्रोल करने लगे। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट वापस लेने की घोषणा की थी। ऐसे में देशभर में बड़ी संख्या में लोगों को अपने नोट जमा कराने या फिर नोट निकालने के लिए बैंकों की लंबी-लंबी कतारों में लगना पड़ा था।

बड़ी खबरें

ऐसे ही एक बैंक की कतार में खजांची की मां भी लगी थीं, जब उन्हें अचानक से दर्द उठा और उसका जन्म हुआ। बैंक में पैदा होने के कारण मां-बाप ने उसका नाम खजांची रख दिया था। अखिलेश खजांची के जन्मदिन के मौके को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करने के तौर पर इस्तेमाल किया। उन्होंने लिखा, ‘नोटबंदी में बैंक की कतार में जन्मा खजांची एक साल का हो गया, लेकिन उसके घरवालों का खाता आज भी खाली है। वो काला धन वापस आने की झूठी उम्मीदों की कतार में आज भी खड़े हैं। वो गरीब-भोले लोग तो ये भी नहीं जानते कि ‘राजीतिक जुमला’ किसे कहते हैं।’ मालूम हो कि पीएम मोदी ने काला धन पर प्रहार करने के नाम पर पांच सौ और हजार के नोटों को वापस लेने की घोषणा की थी।

ट्वीट के सामने आते ही अखिलेश की ट्रोलिंग शुरू हो गई। ‘नेत्रा2वीट्स’ हैंडल से नेत्रा बक्शी ने ट्वीट किया, ‘बहुत नुकसान करवा दिया है मोदी जी ने तभी तो रह-रह कर टीस उठती है और शायद एक साल बाद भी नोटों से भरे हुए कमरों को देखकर रोना आता होगा…रोते रहो…हम मजे लेते रहेंगे…’ । प्रियंका सिंह ने ट्वीट किया, ‘भैय्या आपके जैसा कोई हो ही नहीं सकता, समय-समय पर आपने इस बात को साबित किया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *