मौलाना ने कहा- हाफिज सईद को घर में घुस कर मारेंगे, कश्मीरी नेता बोला- कर के दिखाएं जरा कुछ – Pakistan court frees 26/11 mastermind hafiz saeed Maulana dehalvi says will kill him Pakistan Kashmiri leader oppose

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद की रिहाई के आदेश देने बाद भारत में गुस्से का माहौल है। लाहौर उच्च न्यायालय  ने हाफिज को गुरुवार (23 नवंबर) को 10 महीने की नजरबंदी के बाद रिहा कर दिया। अदालत ने बुधवार को पंजाब सरकार के जमात-उद-दावा (जेयूडी) प्रमुख की नजरबंदी को तीन महीने के लिए बढ़ाए जाने की अपील को खारिज कर उसे छोड़े जाने का आदेश जारी किया था। न्यूज 18 इंडिया में इसी मुद्दे पर एक गरमागरम बहस हुई। बहस में मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना अतहर हुसैन देहलवी ने कहा कि अगर अल्लाह ने चाहा तो हाफिज सईद को घर में घुसकर मारेंगे। दरअसल बहस के दौरान कश्मीरी नेता बाबर कादरी ने जब कहा कि आप पाकिस्तान की न्यायपालिका के मामले में दखल नहीं दे सकते हैं, तो पर गुस्से में मौलाना देहलवी ने कहा कि हाफिज सईद को घर में घुस कर मारेंगे।

शो में आगे कश्मीरी नेता ने कहा कि मौलाना साहब मुसलमानों को मारना हलाल है? आप क्या कर रहे हैं? कश्मीरी नेता के इस बयान पर मौलाना देहलवी ने कहा कि पाकिस्तान भी कई लोगों को मार रहा है, ये क्या है। मौलाना ने कहा कि जब पाकिस्तान मारे तो मुजाहिद और जब हमारे सैनिक मारें तो दशहतगर्द। ये दोहरी नीति नहीं चलेगी। मौलाना देहलवी ने कहा,’जो भी दहशतगर्द होगा वो ऐसे ही मारा जाएगा। कश्मीरी नेता ने कहा कि भारत मसला ये कश्मीर क्यों नहीं हल कर रहा है।

बता दें अमेरिका व संयुक्त राष्ट्र ने सईद को 2008 के मुंबई हमले में भूमिका के लिए वैश्विक आतंकी घोषित किया है। उस पर एक करोड़ डॉलर का इनाम है। तीन सदस्यों वाले बोर्ड ने प्रांतीय और संघीय सरकार द्वारा सईद के खिलाफ सबूत नहीं जुटा पाने में नाकाम रहने पर उसके रिहाई का आदेश दे दिया।सईद पर 2008 के मुंबई हमले की साजिश रचने का आरोप है, जिसमें 166 भारतीय और विदेशी नागरिकों की मौत हो गई थी। भारत लगातार पाकिस्तान से नरसंहार के आरोपी को सजा देने का आग्रह करता रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *