साथी कर्नल की बीवी से अफेयर के दोषी ब्रिगेडियर का कोर्ट मार्शल, 3 साल का सश्रम कारावास – Army General Court Marshal ordered Brigadier undergo 3 years rigorous imprisonment in colonel wife’s affair case

कर्नल की पत्नी से अवैध संबंध रखने के मामले में आरोपी ब्रिगेडियर को दोषी पाया गया है जिसके बाद उसका कोर्ट मार्शल कर दिया गया है और उसे सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई है। इसके बाद ब्रिगेडियर अपना अधिकारी अपने पद और सभी सेवानिवृत्ति लाभ से वंचित रहना होगा। इससे पहले अक्टूबर में ब्रिगेडियर को इस मामले में दोषी मानते हुए सेना में जनरल कोर्ट मार्शल (जीसीएम) के तहत बड़ी कार्रवाई की गई थी। आरोपी की चार सालों तक के लिए न केवल पदोन्नति रोक दी गई थी, बल्कि उसे इसके लिए कड़ी फटकार भी लगाई गई थी।

कोर्ट के आदेश से आरोपी ब्रिगेडियर को अपनी वरिष्ठता से भी हाथ धोना पड़ा था। यह घटना उस समय की है जब वे पश्चिम बंगाल के सुकना में 33 कोर्प्स के तहत चीन के साथ मोर्चे के लिए एक महत्त्वपूर्ण पहाड़ इन्फैन्ट्री ब्रिगेड का नेतृत्व कर रहे थे। वहीं सूत्रों के मुताबिक ब्रिगेडियर पर की गई कार्रवाई पर आर्मी हेडक्वाटर ने अपना कड़ा रूख दिखाया है और जीसीएम से आरोपी को दी गई सजा पर एक बार फिर से विचार करने को कहा है।

संबंधित खबरें

गौरतलब है कि यह मामला उस समय सामने आया था जब ब्रिगेडियर की पत्नी ने उसके खिलाफ अवैध संबंध की आर्मी के आलाकमान से शिकायत की थी। ब्रिगेडियर की पत्नी द्वारा जीसीएम का नेतृत्व कर रहे मेजर जनरल और छह अन्य ब्रिगेडियर के सामने आरोपी के कर्नल की पत्नी के साथ के व्हाट्सऐप मैसेज दिखाए। सेना के सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को इस मामले में बताया था कि आरोपी अफसर ने अपने खिलाफ कोर्ट में आरोपों को स्वीकार किया था, जिसकी वजह से उसे यह नर्म सजा दी गई। वहीं, सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस तरह के मामलों में आरोपी को पांच साल की सजा सुनाई जाती है, मगर गलती कबूलना ही मुख्य कारण था, जिसके चलते आरोपी ब्रिगेडियर को चार सालों की सजा दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *