AAP के घमासान में नया चेहरा, केजरीवाल के प्रत्याशी के खिलाफ उतरेंगी कलावती! – former delhi minister Kapil Mishra announces name of Kalawati koli mother of aap activist Santosh Koli against delhi cm arvind kejriwal sushil gupta candidate to fight for rajya sabha election

आम आदमी पार्टी में राज्यसभा चुनाव को लेकर घमासान बढ़ता जा रहा है। इस सियासी खींचतान में तब नया मोड़ देखने को मिला जब दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने सुशील गुप्ता के खिलाफ पार्टी कार्यकर्ता कलावती कोली को मैदान में उतारने का फैसला किया। कलावती कोली आप की कार्यकर्ता हैं और दिल्ली के सीमापुरी इलाके में काफी सक्रिय हैं। कलावती के बेटे संतोष कोली भी पार्टी से जुड़े थे लेकिन मात्र 28 साल में एक ‘सड़क हादसे’ में उनकी मौत हो गई थी। कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘शहीद संतोष कोली की माँ आदरणीय कलावती होंगी राज्यसभा उम्मीदवार, वह AAP की सबसे पहली कार्यकर्ता हैं, और सीमापुरी से पार्टी की नींव रखी हैं। कपिल मिश्रा ने कहा कि उनके परिवार ने आंदोलन के लिये बलिदान दिया। वह सुशील गुप्ता के खिलाफ राज्यसभा चुनाव में पर्चा भरेंगी।’ कपिल मिश्रा ने आप के विधायकों और पार्टी के नेताओं से नैतिक आधार पर कलावती कोली को समर्थन करने के लिए कहा है। कपिल मिश्रा के मुताबिक आज कलावती कोली इसी मामले पर अरविंद केजरीवाल से मिलने गईं थीं, लेकिन उनके वहां पहुंचने से पहले ही केजरीवाल ‘भाग’ चुके थे।

संबंधित खबरें

बता दें कि कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी द्वारा घोषित राज्यसभा के उम्मीदवार सुशील गुप्ता और नारायण दास गुप्ता के नाम पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि पार्टी नेतृत्व ने पैसा देकर टिकट बेचा है। हालांकि सुशील गुप्ता ने कपिल मिश्रा के आरोपों को खारिज किया है और उन्हें मानहानि का नोटिस भेजा है। कपिल मिश्रा ने दावा किया है कि कलावती कोली को राज्यसभा भेजने के लिए सात विधायकों का समर्थन चाहिए।

कलावती कोली के पुत्र संतोष कोली आप के सक्रिय कार्यकर्ता थे। संतोष केजरीवाल के साथ आंदोलन के दिनों से ही जुड़े थे। 2002 में जब केजरीवाल परिवर्तन एनजीओ चलाते थे उस दौरान ही संतोष उनके साथ थे और उन्होंने दिल्ली में जन वितरण प्रणाली में धांधली को उजागर किया था। अगस्त 2013 में 28 साल की उम्र में उनकी तब मौत हो गई थी जब एक कार ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी थी। इस सड़क हादसे को काफी शंका भरी निगाहों से देखा गया। तब आप के कार्यकर्ताओं ने कहा था कि संतोष कोली की मौत सड़क हादसे में नहीं हुई है। बल्कि उनकी हत्या की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *