Adhyatmik University, baba virendra dev dixit, baba ki kartoot, Delhi police, CBI, DCW, nationwide Ashrams – आपबीती: पुड़िया बनाकर 50-60 बच्चियों को पावडर खिलाता था बलात्कारी बाबा, फिर बारी-बारी से करता था दुष्कर्म

जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे दिल्ली के बलात्कारी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के काले चिट्ठे खुल रहे हैं। उसके राज बेपर्दा हो रहे हैं। जांच टीम लगातार देशभर में फैले कुकर्मी बाबा के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। मंगलवार (26 दिसंबर) को मध्य प्रदेश के इंदौर में वीरेंद्र देव के आश्रम में छापेमारी की गई, जहां से तीन लड़कियों को छुड़ाया गया है। अधिकारियों ने छुड़ाई गई बच्चियों को चाइल्ड हेल्पलाइन के हवाले कर दिया है। इधर, बाबा के चंगुल से आजाद हुई लड़कियां अब मीडिया के सामने आने लगी हैं और आपबीती बयां कर रही हैं। ऐसी ही एक नाबालिग पीड़िता ने ‘आजतक’ से अपनी दर्दनाक आपबीती साझा की।

13 साल की इस नाबालिग लड़की ने बताया कि बाबा के गुर्गे उन सबों पर अत्याचार करते थे। उसने बताया कि हॉल में 50-60 नाबालिग लड़कियों को खड़ा कर पुड़िया में रखे पावडर दिया जाता था, फिर बिना पानी के ही उसे पीने (फाकने) को कहा जाता था। जब बच्चियां पावडर फाक लेती थीं, तब वो बेचैन हो जाती थीं। पीड़िता बताती है कि इसके बाद उन्हें बेचैनी होती थी, दिमाग कुछ काम नहीं करता था। फिर बाबा और उसके गुर्गे बारी-बारी से बच्चियों से दुष्कर्म करता था।

संबंधित खबरें

एक अन्य पीड़ित महिला ने बताया कि बाबा सात दिनों का आध्यात्मिक कोर्स कराने के बहाने यूनिवर्सिटी में दाखिला कराता था। इन सात दिनों के अंदर ही वो सभी लड़कियों और युवतियों का माइंडवाश कर उसे प्रभु लीला में रमने को कहता था। बाबा खुद को भगवान शंकर और कृष्ण का अवतार कहता था फिर इन युवतियों और लड़कियों से भगवान कृष्ण की गोपियां बनकर रास रचाने को कहता था। बाबा कहता था कि उसकी 16000 गोपियां हैं। कृष्ण लीला के नाम पर बाबा सभी के साथ दुष्कर्म करता था।

एक अन्य शख्स ने बताया कि उसकी बेटी अमेरिका से यहां आकर बाबा के आश्रम में कैद हो गई। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी अमेरिका से केमिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी है लेकिन बाबा को आध्यात्मिक मोहपाश का शिकार हो गई। बता दें कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी इस मामला के उजागर होने के बाद से सक्रिय हैं। दिल्ली के अलग-अलग कोनों में स्थित बाबा के आश्रम में छापेमारी कर लड़कियों को छुड़ाने के क्रम में मिले इनपुट्स के आधार पर मालीवाल ने मीडिया को बताया कि वीरेंद्र देव दीक्षित देह व्यापार के अलावा मानव तस्करी में भी शामिल था। फिलहाल बाबा फरार है। दिल्ली हाईकोर्ट के निर्देश पर सीबीआई मामले की तहकीकात कर रही है। उसकी एसआईटी जगह-जगह छापेमारी कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *