BJP leader Ajay Agrawal claims a secret meeting between Pakistani Envoy, former PM Manmohan Singh and Mani Shankar Aiyar before neech remarks – सोनिया के खिलाफ चुनाव लड़ चुके बीजेपी लीडर का दावा- नीच कमेंट से पहले पाकिस्तानी राजदूत से मिले थे अय्यर और मनमोहन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहे जाने पर उपजे विवाद में एक नया ट्विस्ट आ गया है। बीजेपी के सीनियर लीडर और बोफोर्स सौदों के खिलाफ याचिकाकर्ता अजय अग्रवाल ने नया हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया है कि नीच कहने से एक दिन पहले मणिशंकर अय्यर के घर पर पाकिस्तानी राजदूत, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी की मुलाकात हुई थी। अग्रवाल ने कहा कि उनके पास इसके पुख्ता सबूत हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों के बीच 6 दिसंबर (बुधवार) को करीब दो घंटे तक बातचीत हुई थी। उन्होंने कहा कि जहां ये मुलाकात हुई वह मणिशंकर अय्यर का घर है और वह मेरे घर के काफी करीब है।

अग्रवाल ने कहा कि इसी मीटिंग के अगले दिन मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कहा था। बता दें कि अजय अग्रवाल लंबे समय से कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार के खिलाफ राजनीतिक लड़ाई लड़ते रहे हैं। इन्होंने सोनिया गांधी के खिलाफ रायबरेली से चुनाव भी लड़ा था।

गौरतलब है कि गुरुवार (07 दिसंबर) को कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को नीच आदमी कहा था। उनके इस बयान पर न केवल बीजेपी बल्कि कांग्रेस में भी खलबली मच गई थी। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अय्यर से इस मसले पर माफी मांगने को कहा था। उधर, पीएम मोदी ने इस टिप्पणी को गुजरातियों का अपमान बताया। उन्होंने गुजरात के चुनावी रैलियों में कहा कि हां मैं नीच जाति का हूं लेकिन बहुत ऊंचे काम किए हैं। विवाद बढ़ने के बाद कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निलंबित कर दिया था।

अय्यर ने पीएम मोदी के उस बयान पर प्रतिक्रिया देने के दौरान यह टिप्पणी की थी जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी बाबा अंबेडकर को नहीं जानते हैं, बाबा भोले को जानते हैं। दरअसल, दिल्ली में अंबेडकर प्रतिष्ठान द्वारा आयोजित एक भवन के उद्घाटन समारोह में पीएम ने जवाहर लाल नेहरू पर भी डा. भीमराव अंबेडकर के साथ पक्षपात करने और उनकी भूमिका को कम करके दिखाने का आरोप लगाया था। इस पर जब पत्रकारों ने अय्यर से प्रतिक्रिया चाही तो उन्होंने अपनी बात में प्रधानमंत्री मोदी का नाम लिए बिना उन्हें नीच कहा था। चुनावी माहौल में मौका पाते ही बीजेपी ने इस बयान को हाथों हाथ ले लिया और चौतरफा कांग्रेस और मणिशंकर अय्यर पर हमला बोल दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *