BJP Leader Vinay Katiyar says- There needs to be a mechanism for population control, Muslim Population – मुस्लिमों पर बीजेपी नेताओं के विवास्पद बयान: अब विनय कटियार बोले- बढ़ती आबादी बड़ी समस्या, लगाया जाए अंकुश

मुस्लिमों पर बीजेपी नेताओं द्वारा विवादास्पद बयान देने वालों में अब भाजपा के राज्य सभा सांसद विनय कटियार का भी नाम जुड़ गया है। कटियार ने भी कहा है कि देश की बढ़ती आबादी पर अंकुश लगाया जाना चाहिए। टाइम्स नाऊ से बात करते हुए कटियार ने चीन की तरह देश में भी जनसंख्या नीति बनाने की वकालत की। बता दें कि राजस्थान के अलवर से बीजेपी विधायक बनवारी लाल सिंघल ने एक पोस्ट में लिखा था कि मुसलमान देश पर राज करने के मकसद से ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं। वे हिंदुओं को उनके ही देश में किनारे करने के लिए आबादी बढ़ा रहे हैं। वे चाहते हैं कि देश में मुस्लिम राष्ट्रपति, मुस्लिम प्रधानमंत्री और राज्यों में मुस्लिम मुख्यमंत्री हो।

साल 2017 के आखिरी दिन फेसबुक पर सिंघल ने एक पोस्ट लिखा था जिसके वायरल होने के बाद उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा था कि हिंदू एक और दो बच्चे पैदा कर रहे हैं क्योंकि उन्हें शिक्षित करने की चिंता है, जबकि मुसलमानों को इस बात की चिंता है कि देश पर राज कैसे किया जाए। शिक्षा और विकास उनके लिए मायने नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत विचारधारा है।

संबंधित खबरें

सिंघल के इस विवादित बयान का केंद्रीय मंत्री गिरिराज ने भी समर्थन किया। उन्होंने तो मुसलमानों की बढ़ती आबादी को देश के लिए खतरा बता डाला और कहा कि इसे रोकने के लिए जल्द से जल्द कानून बने। बिहार के नवादा से सांसद गिरिराज सिंह ने कहा, ‘देश के अंदर बढ़ती हुई जनसंख्या और खासकर मुसलमानों की बढ़ती जनसंख्या सामाजिक समरसता के लिए तो खतरा है ही लेकिन विकास के लिए भी खतरा है। जहां-जहां हिंदुओं की जनसंख्या गिरी है वहां-वहां सामाजिक समरसता टूटी है, चाहे केरल का मल्लापुरम हो, चाहे बिहार का किशनगंज हो, चाहे उत्तर प्रदेश हो, चाहे कैराना हो, चाहे बिहार का रानीसागर हो, भोजपुर जिला हो। कई हजार उदाहरण हैं इसके। विकास और सामाजिक समरसता के लिए यह अच्छा सूचक नहीं है, इसलिए इस पर बहस होनी चाहिए और कानून बनना चाहिए।’

मुंबई के कमला मील हादसे पर भी बीजेपी की सांसद हेमामालिनी ने जनसंख्या विस्फोट पर विवादित टिप्पणी की थी और शहरों में जनसंख्या नियंत्रण के लिए नीति बनाने की वकालत की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *