BJP MLA Vikram Saini attack on muslim and previous government – मुसलमानों पर एक और बीजेपी विधायक का विवादास्पद बयान- दाढ़ीवालों को यहां न रोका होता तो यह जमीनें हमारी होती

मुस्लिमों को लेकर राजस्थान के अलवर से बीजेपी विधायक बनवारी लाल सिंघल के विवादित बयान के बाद अब एक अन्य बीजेपी विधायक ने चौंका देने वाली बात कही है। हमेशा ही अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले बीजेपी एमएलए विक्रम सैनी ने एक बार फिर मुसलमानों पर निशाना साधा है। मुजफ्फरनगर के अतोली से बीजेपी विधायक विक्रम सैनी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए खुद को कट्टर हिंदू बताया और हिंदुस्तान को हिंदुओं का देश बताया। उन्होंने कहा, ‘मैं कट्टर हिंदूवादी हूं और यह मेरी पहचान है। मैं जातिवाद में पूर्ण विश्वास करता हूं। हमारे देश का नाम हिंदुस्तान है अर्थात यह हिंदुओं का देश है।’ बिना किसी नेता का नाम लिए विक्रम सैनी ने पुरानी सरकार पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने विभाजन के वक्त की बात करते हुए कहा, ‘कुछ नालायक नेताओं ने बिना दाढ़ी वालों को यहां रोक दिया था तो आज हम मुसीबत में हैं। ये भी अगर चले जाते तो ये सारी जमीनें हमलोगों की होती। आज बिना जाति भेद के सबको समान रूप से लाभ मिलता है। अब से पहले जितनी लंबी दाढ़ी होती थी उतना लंबा चेक मिलता था।’

संबंधित खबरें

वहीं अलवर से बीजेपी विधायक बनवारी लाल सिंघल ने सोमवार मुसलमानों को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि हिंदू एक और दो बच्चे पैदा कर रहे हैं, उन्हें उनको शिक्षित करने की चिंता है, जबकि मुसलमानों को इस बात की चिंता है कि देश पर राज कैसे किया जाए। शिक्षा और विकास उनके लिए मायने नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि यह उनकी व्यक्तिगत विचारधारा है। इससे पहले रविवार को उन्होंने फेसबुक पर मुसलमानों को लेकर अपने विचार रखे थे। उन्होंने पोस्ट में लिखा था कि मुसलमान देश पर राज करने के मकसद से ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं। वे हिंदुओं को उनके ही देश में किनारे करने के लिए आबादी बढ़ा रहे हैं। वे चाहते हैं कि देश में मुस्लिम राष्ट्रपति, मुस्लिम प्रधानमंत्री और राज्यों में मुस्लिम मुख्यमंत्री हो।

वहीं मुस्लिमों की आबादी पर बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बेहद चौंकाने वाला बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मुस्लिमों की बढ़ी आबादी देश के लिए खतरा हो सकती है। गिरिराज ने कहा, ‘देश के अंदर बढ़ती हुई जनसंख्या और खासकर मुसलमानों की बढ़ती जनसंख्या सामाजिक समरसता के लिए तो खतरा है ही लेकिन विकास के लिए भी खतरा है। जहां-जहां हिंदुओं की जनसंख्या गिरी है वहां-वहां सामाजिक समरसता टूटी है, चाहे केरल का मल्लापुरम हो, चाहे बिहार का किशनगंज हो, चाहे उत्तर प्रदेश हो, चाहे कैराना हो, चाहे बिहार का रानीसागर हो, भोजपुर जिला हो। कई हजार उदाहरण हैं इसके। विकास और सामाजिक समरसता के लिए यह अच्छा सूचक नहीं है, इसलिए इस पर बहस होनी चाहिए और कानून बनना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *