Cyclone Ockhi in Mumbai, Gujarat, Kerala, Tamil Nadu and Surat Live Updates, Cyclone Okhi in Mumbai Latest News: Over 3,200 people evacuated from Surat – Cyclone Ockhi in Mumbai, Gujarat LIVE UPDATES

Cyclone Ockhi Live Updates: चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ ने केरल, तमिलनाडु, गुजरात व महाराष्‍ट्र में कहर मचा रखा है। गुजरात के सूरत जिले के तटीय इलाके के 29 गांवों के 3,200 से ज्‍यादा लोगों को सु‍रक्षित निकाल लिया गया है। अभी चक्रवता का केंद्र पूर्व मध्‍य अरब सागर में है जो कि सूरत से 240 किलोमीटर दूर है। विशेषज्ञों के अनुसार, अगले दो दिन तक ऐसे ही हालत बने रह सकते हैं। ‘ओखी’ ने चुनाव प्रचार का रंग फीका कर दिया है। मंगलवार को मौसम खराब होने की वजह से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एवं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई शीर्ष नेताओं की रैलियां रद्द करनी पड़ी। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे आज रात सूरत में राज्य के दक्षिणी तट पर पहुंचने वाले चक्रवात से प्रभावित होने वालों की मदद करें। राहुल ने अंजार में एक चुनावी रैली की, लेकिन आने वाले चक्रवात की वजह से उन्हें मोरबी, ध्रांगधरा और सुरेंद्र नगर में अपनी रैलियां रद्द करनी पड़ी।

बड़ी खबरें

नौसेना, वायु सेना, तटरक्षक बल और राज्य के मत्स्यिकी विभाग के संयुक्त बचाव मिशन ‘ऑपरेशन सिनर्जी’ के तहत अब तक चक्रवात के बाद सागर में फंसे 252 मछुआरों को बचाया है। इसके साथ ही 1000 से अधिक मछुआरे तटों तक सुरक्षित पहुंच गए हैं। तटरक्षक बल के एक पोत ने चक्रवात ओखी से प्रभावितों के लिए राहत अभियान के तहत लक्षद्वीप के तट पर 15 नौकाओं का पता लगाकर उस पर सवार 184 मछुआरों को मदद दी। तटरक्षक बल ने एक बयान में कहा कि पोत आईसीजीएस सम्राट ने मछली पकड़ने वाली 15 नौकाओं का पता लगाया जिसमें 14 तमिलनाडु जबकि एक केरल की थी। बयान के अनुसार, तटरक्षक बल के पोत और विमान समुद्र में फंसे मछुआरों का पता लगाकर उन्हें मदद पहुंचाने के कार्य में लगे हैं।

Here’s Live Updates of Cyclone Ockhi in Mumbai, Gujarat:

– पंकज कुमार ने कहा कि हवा की रफ्तार 60 से 70 किमी प्रति घंटा रहने की उम्मीद है या इसके तटवर्ती इलाकों सूरत व वलसाड में 80 किमी प्रति घंटे से ज्यादा होने की उम्मीद है। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की पांच टीमें व राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की एक टीम को सूरत व दूसरे तटवर्ती इलाकों में तैनात किया गया है। अधिकारियों ने 510 निर्माण स्थलों पर कार्यो को रोक दिया है। अधिकारियों ने छोटे टॉवरों को निर्बाध सेल्युलर सेवाओं के लिए खड़ा करने की तैयारी की है। ओखी के राज्य में दस्तक देने के दौरान समुद्री लहरों के दो मीटर से ज्यादा ऊपर जाने की उम्मीद है।

– तटरक्षकों ने सोमवार शाम समुद्र में मछली पकड़ने के लिए निकलीं गई 13,000 नौकाओं को वापस बुला लिया है। हालांकि, द्वारका की 700 नौकाएं व दूसरे जगहों की 300 नौकाएं अभी भी समुद्र में हैं। गुजरात के राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव पंकज कुमार ने संवाददाताओं से कहा, “हम उन्हें तटरक्षक की मदद से वापस लाने की उम्मीद करते हैं।” उन्होंने कहा, “राज्य किसी तरह के बदतर हालात से निपटने के लिए तैयार है। अभी चक्रवात ओखी सूरत से 390 किमी दूर है और इसके मध्यरात्रि के करीब शहर में दस्तक देने का अनुमान है।”

– रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया था और राज्य को हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया था। उन्होंने यह भी कहा था कि बचाव अभियान तब तक जारी रहेगा जब तक कि हर गुमशुदा मछुआरे को सुरक्षित वापस नहीं लाया जाता है। केरल सरकार ने ओखी चक्रवात से राज्य के कई जिलों के प्रभावित होने के मद्देनजर आगामी ‘केरल अंतरराष्ट्रीय फिल्म उत्सव’ (आईएफएफके) के उद्घाटन समारोह को रद्द कर दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *