Fodder Scam Case Verdict Judgement Today LIVE, Lalu Prasad Yadav Chara Ghotala Faisla News in Hindi: lalu Yadav ulti-million-rupee fodder scam Central Bureau of Investigation CBI court had on December 23 – चारा घोटाला फैसला LIVE: तेजस्‍वी अदालत की अवमानना के दोषी करार, फैसले के खिलाफ दिया था बयान

Lalu Prasad Yadav, Fodder Scam Case Verdict Live: राष्‍ट्रीय जनता दल अध्‍यक्ष लालू प्रसाद को बहुचर्चित चारा घोटाले के एक मामले में बुधवार (3 जनवरी) को सजा सुनाई जाएगी। लालू यादव व अन्‍य आरोपी सजा के ऐलान के लिए रांची की विशेष सीबीआई अदालत पहुंच चुके हैं। अदालत ने इस मामले में 23 दिसंबर को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, आर के राणा, जगदीश शर्मा, तीन आइएएस अधिकारी तत्कालीन वित्त आयुक्त फूलचंद सिंह, पशुपालन विभाग के तत्कालीन सचिव बेक जूलियस एवं एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी महेश प्रसाद के अलावा पशुपालन विभाग के तत्कालीन अधिकारी कृष्ण कुमार प्रसाद, मोबाइल पशुचिकित्साधिकारी सुबीर भट्टाचार्य एवं आठ चारा आपूर्तिकर्ताओं सुशील कुमार झा, सुनील कुमार सिन्हा, राजाराम जोशी, गोपीनाथ दास, संजय कुमार अग्रवाल, ज्योति कुमार झा, सुनील गांधी तथा त्रिपुरारी मोहन प्रसाद को दोषी करार देकर जेल भेज दिया था। यह मामला देवघर जिले (अब झारखंड) के कोषागार से 84.5 लाख रुपये की निकासी में हुए घपले का है, जो लालू के बिहार का मुख्‍यमंत्री रहते हुआ था। मामले की सुनवाई 13 दिसंबर को समाप्‍त हुई थी।

बड़ी खबरें

इससे पहले चाईबासा कोषागार से 37 करोड़, सत्तर लाख रुपये अवैध ढंग से निकासी करने के चारा घोटाले के एक अन्य मामले में लालू यादव, जगदीश शर्मा, राणा, पूर्व मुख्यमंत्री डा .जगन्नाथ मिश्रा समेत इनमें से आज के मामले के अनेक आरोपियों को सजा हो चुकी है और वह उच्च न्यायालय से जमानत प्राप्त कर रिहा हुए हैं। देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये के फर्जीवाड़े से जुड़े इस मुकदमे में 23 दिसंबर को सीबीआई के विशेष न्यायाधीष शिवपाल सिंह ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डा. जगन्नाथ मिश्रा, बिहार के पूर्व मंत्री विद्या सागर निषाद, पीएसी के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत, हार्दिक चंद्र चैधरी, सरस्वती चंद्र एवं साधना सिंह को निर्दोष करार देते हुए बरी कर दिया था।

Lalu Prasad Yadav, Fodder Scam Case Verdict Live Updates:

– रांची की विशेष सीबीआई अदालत ने रघुवंश प्रसाद सिंह, तेजस्‍वी यादव और मनोज झा को अदालत की अवमानना का दोषी पाया है। तीनों को 23 जनवरी को अदालत के समक्ष पेश होने को कहा गया है। तीनों नेताओं ने 23 दिसंबर को फैसला आने के बाद अदालत पर सवाल खड़े किए थे।

– वर्ष 1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की फर्जीवाड़ा कर अवैध ढंग से पशु चारे के नाम पर निकासी के इस मामले में कुल 38 लोग आरोपी थे जिनके खिलाफ सीबीआई ने 27 अक्तूबर, 1997 को मामला दर्ज किया था लगभग 20 वर्षों बाद इस मामले में आज फैसला आना है।

– लालू प्रसाद के मुख्य अधिवक्ता चितरंजन प्रसाद ने बताया कि पूरी संभावना है कि आज ही अदालत सजा के बिंदु पर सुनवाई कर अपना फैसला सुना देगी। उन्होंने सजा की अवधि के बारे में कोई टिप्पणी करने से इनकार किया।

– लालू यादव के खास और राजद विधायक भोला यादव ने कहा, ”हम हमारे नेता लालू प्रसाद के लिए कम से कम सजा की उम्‍मीद करते हैं ताकि निचली अदालत से जमानत ली जा सके, नहीं तो हम रांची हाई कोर्ट जाएंगे।”

– लालू प्रसाद यादव ने जेल जाने से पूर्व कहा था कि उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया है और इस फैसले के खिलाफ वह उच्च न्यायालय जायेंगे जहां उन्हें अवश्य न्याय मिलेगा। उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

– लालू प्रसाद यादव रांची की बिरसा मुंडा जेल से निकल चुके हैं। उन्‍हें विशेष सीबीआई अदालत ले जाया जाएगा जहां चारा घोटाले से जुड़े मामले में सजा का ऐलान होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *