Gujarat Election, Chunav 2017: PM Narendra Modi speaks on Babri Masjid, Ram Mandir Ayodhya, attacks on Kapil Sibbal, Triple Talaq – गुजरात चुनाव 2017: राम मंदिर को लेकर पीएम मोदी ने कपिल सिब्‍बल पर कसा तंज, फिर कहा- ट्रिपल तलाक पर चुप नहीं रहूंगा

राहुल गांधी के हिन्दू और गैर हिन्दू विवाद के बाद अब राम मंदिर का मुद्दा भी गुजरात चुनाव में छा गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (06 दिसंबर) को अहमदाबाद के धंधुआ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल मुस्लिमों की पैरवी कर रहे हैं। इस पर उन्हें एतराज नहीं है लेकिन वो यह कैसे कह सकते हैं कि अगले लोकसभा चुनाव तक अयोध्या मुद्दे का समाधान मत निकालो? पीएम ने कहा कि अयोध्या विवाद का लोकसभा चुनाव से क्या संबंध हो सकता है, जबकि इन 25 सालों में कई लोकसभा चुनाव हो चुके हैं। बता दें कि कपिल सिब्बल सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से मामले की पैरवी सुप्रीम कोर्ट में कर रहे हैं।

इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वो इस मसले पर अब चुप नहीं रहेंगे। पीएम ने कहा, “जब तीन तलाक का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में था, सरकार की तरफ से कोर्ट में अफेडेविट सौंपा गया था, तब मीडिया में कहा जा रहा था कि नरेंद्र मोदी इस पर कुछ नहीं बोलेंगे क्योंकि उत्तर प्रदेश में चुनाव है। लोगों ने भी मुझे इस मुद्दे पर चुप रहने की सलाह दी थी क्योंकि हम यूपी चुनाव हार सकते थे लेकिन हमने चुप्पी तोड़ी।”

पीएम ने कहा, “मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूं कि  मैं तीन तलाक पर चुप नहीं रहूंगा। सबकुछ चुनाव के लिए नहीं होता है। यह मुद्दा महिलाओं के अधिकार से जुड़ा हुआ है।” मोदी ने कहा कि मानवता पहले, चुनाव बाद में। उन्होंने कहा कि चुनाव आते-जाते रहेंगे लेकिन महिलाओं को अधिकारसंपन्न बनाने में वो देरी नहीं कर सकते।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने गुजरात में टैंकर राज खत्म किया। उन्होंने कहा कि टैंकर बिजनेस कांग्रेसी नेताओं और उनके परिवारों के हाथ में था। इसके जरिए वे लोग लोगों को लूट रहे थे। बाबा साहब अंबेडकर की पुण्यतिथि पर उनकी चर्चा करते हुए भी मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि देश में सिर्फ एक परिवार ने बाबा साहब और सरदार पटेल के साथ अन्याय किया। उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस पर पंडित नेहरू का प्रभाव कम हुआ तभी बाबा साहब अंबेडकर को संविधान सभा में शामिल किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *