Kulbhushan Jadhav, Tortured In Pakistan, Mother, wife meeting, Islamabad, Photo Reveals Bruises On Head, Ears, JP Singh – टॉर्चर से गुजरे कुलभूषण जाधव? शीशे की दीवार, कैमरों से भी उठे कई सवाल

जासूसी के तथाकथित आरोप में पाकिस्तान में मौत की सजा पाए भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव से सोमवार (25 दिसंबर) को उनकी मां अवंति और पत्नी चेतंकुल ने मुलाकात की। इस बीच जिस कमरे में उनकी मुलाकात हुई वहां परिवार वालों और कुलभूषण जाधव के बीच शीशे की दीवार थी। एक तरफ कुलभूषण जाधव तो दूसरी तरफ उनकी मां और पत्नी। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस मुलाकात की तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा की। तस्वीरों को देखने के बाद भारत में इस बात की चर्चा तेज हो गई है और सवाल उठने लगे हैं कि मुलाकात से पहले कुलभूषण जाधव के साथ बर्बरता की गई है। उनके कान के पीछे और बाल मुंडवाए गए सिर पर इस तरह के निशान हैं जो बर्बरता की कहानी बयां करते हैं। सवाल उठने के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि जाधव की परिवार से यह आखिरी मुलाकात नहीं है।

पाकिस्तान के राष्ट्रपिता कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना की जयंती (25 दिसंबर) पर पाकिस्तान ने जाधव को परिवार से मिलाने का एक तरह से क्रिसमस पर उपहार दिया है। हालांकि, पाकिस्तान ने साफ किया है कि यह मुलाकात राजनयिक नहीं मानवीय आधार पर हुई है। इस मुलाकात पर जाधव का एक रिकॉर्डेड वीडियो भी पाकिस्तान ने रिलीज किया है, जिसमें जाधव अपनी और पत्नी से मिलने देने के लिए पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया अदा कर रहे हैं। वीडियो में जाधव कहते दिख रहे हैं कि उन्होंने पाकिस्तान सरकार से अपनी मां और पत्नी से मिलवाने की गुजारिश की थी, जिसे मान लिया गया। जानकारों का कहना है कि यह वीडियो बहुत पहले शूट किया गया है लेकिन पाकिस्तान उसे आज का वीडियो बता रहा है।

संबंधित खबरें

हालांकि, इस मुलाकात के दौरान जाधव के चेहरे पर ना तो खुशी थी और ना ही दुख का भाव था। उसके चेहरे पर समानांतर भाव था, जिससे साबित होता है कि जाधव मानसिक प्रताड़ना और बर्बरता के दौर से इस कदर मर्माहत हो चुके हैं कि उनके लिए भावनाएं दम तोड़ चुकी हैं। बता दें कि जाधव को 22 महीने बाद अपने परिवार से मिलने की इजाजत दी गई है। यह मुलाकात इस्लामाबाद स्थित पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के दफ्तर में हुई। मुलाकात के समय भारतीय उप उच्चायुक्त जे पी सिंह भी मौजूद थे। भारतीय उप उच्चायुक्त की गाड़ी भी पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय में नहीं जाने दिया गया। सवाल यह भी उठ रहे हैं कि आखिरकार एक राजनयिक से ऐसा व्यवहार क्यों?

इसके अलावा जहां जाधव की मां और पत्नी से मुलाकात हो रही थी, वहां न सिर्फ कैमरे लगाए गए थे बल्कि अंदर से बाहर तक पारामिलिट्री फोर्सेज के जवान भी मौजूद थे। भारत में इस बात पर आश्चर्य जताया जा रहा है और सवाल उठाए जा रहे हैं कि मां-बेटे के बीच आखिर शीशे की दीवार क्यों? उनकी मां से जाधव को क्या खतरा हो सकता था? परिवार से मुलाकात के दौरान पारामिलिट्री फोर्सेज के लोगों की तैनाती भी क्यों?

पाकिस्तान ने जाधव का मेडिकल रिपोर्ट भी जारी किया है। इस रिपोर्ट पर भी सवाल उठ रहे हैं क्योंकि वह पहले से ही टाइप था। उस पर हाथ से लिखकर आज की तारीख डाली गई है। हाईट की स्पेलिंग में भी गलती है। इसके अलावा इस रिपोर्ट को पाकिस्तान के किसी डॉक्टर ने नहीं बल्कि दुबई के डॉक्टर ने तैयार किया है जो प्लास्टिक सर्जन है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर पाकिस्तान ने ऐसी मेडिकल रिपोर्ट क्यों बनवाई?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *