trusted lieutenant of underworld don Dawood Ibrahim Chhota Shakeel may be dead – नहीं रहा दाऊद इब्राहिम का गुर्गा छोटा शकील? मौत को लेकर चल रही दो तरह की बातें

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के मुख्य सहयोगी छोटे शकील की मौत की खबरें आ रही हैं। रिपोर्ट्स हैं कि छोटा शकील अब मर चुका है। हिंदुस्तान टाइम्स के हाथ एक ऑडियो टेप हाथ लगी है, जिसमें शकील की गैंग के मेंबर बिलाल और शकील के मुंबई में रहने वाले किसी रिश्तेदार के बीच की बातचीत रिकॉर्ड है। हालांकि इस मामले में अभी तक कोई पुख्ता सबूत हाथ नहीं लगा है। वहीं दिल्ली और मुंबई स्थित राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय के अधिकारी भी इस खबर को ना तो खारिज कर रहे हैं और ना ही इसे स्वीकार कर रहे हैं।

अंडरवर्ल्ड के सूत्रों की मानें तो इस साल 6 जनवरी को इस्लामाबाद में छोटे शकील की मौत हो गई थी। रिपोर्ट्स हैं कि 57 वर्षीय छोटा शकील जनवरी में एक मीटिंग में शामिल होने के लिए Odessa के सदस्यों के साथ इस्लामाबाद गया था। मौत की खबर के पहले वर्जन के मुताबिक इस्लामाबाद में छोटे शकील को दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद उसे रावलपिंडी के अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचते तक उसकी मौत हो चुकी थी।

संबंधित खबरें

वहीं दूसरे वर्जन के मुताबिक जब शकील इस्लामाबाद में था तब पाकिस्तान इंटर-सर्विसेस इंटेलिजेंस (ISI) ने उसे मरवा दिया, क्योंकि उनके लिए शकील को मैनेज करना बहुत मुश्किल होता जा रहा था। शकील के शव को दो दिनों तक के लिए मुर्दाघर में रखा गया और बाद में सी-130 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के जरिए उसे कराची लाया गया। जहां उसे दफन कर दिया गया। शकील अपनी दूसरी पत्नी आयशा के साथ डीएचए कॉलोनी, 15वीं लेन के डी-48 फ्लैट में रहता था। छोटे शकील को दफन करने के कुछ दिनों बाद आयशा और एक अन्य परिवार के सदस्य से वह घर खाली करवा लिया गया और उन्हें आईएसआई ने एक अन्य सुरक्षित जगह पर शिफ्ट कर दिया। आपको बता दें कि छोटे शकील के परिवार में उसकी दो पत्नियां, एक बेटा, दो बेटियां और एक दादी हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक आईएसआई उसकी मौत की खबर का खुलासा नहीं करना चाहता था, क्योंकि वह उसकी आभासी उपस्थिति का इस्तेमाल करना चाहता था। सूत्रों के मुताबिक शकील ने खुद अपनी आभासी उपस्थिति बनाए रखने का इंतजाम कर लिया था। उसने पाकिस्तानी नागरिक रहीम मर्चेंट को ट्रेनिंग दी थी। रहीम को शकील की तरह बोलना भी सिखाया गया था। दाऊद इब्राहिम को उसके करीबी की मौत की खबर दो दिनों के बाद दी गई थी। सूत्रों का कहना है कि शकील की मौत की खबर सुनकर दाऊद डिप्रेशन में चला गया था, उसे जनवरी और मार्च में अस्पताल में भर्ती तक कराना पड़ गया था। यह भी कहा जा रहा है कि शकील की मौत के बाद से ही दाऊद भारत में वापस आने की कोशिश कर रहा है। इसके अलावा यह भी खबर है कि शकील के सहयोगी बिलाल, मोहम्मद राशिद, इकबाल सलीम, यूसुफ रजा और परवेज ख्वाजा को दाऊद की डी-कंपनी से अलग किया जा चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *