UP Nagar Palika Nikay Election Chunav Result 2017 Winners List, UP Nagar Nigam Election Result 2017, UP Nagar Nikay Municipal Election Result 2017: Full List of Winners Seat Wise – LIVE UP नगर निकाय चुनाव नतीजे 2017: किस नगर निगम में कौन जीता, यहां देखें पूरी लिस्‍ट

UP Nagar Nigam Election/Chunav Result 2017: उत्‍तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव के परिणाम आने शुरू हो गए हैं। यहां पर हम आपको 16 नगर निगमों में कौन जीता, इसकी सूची उपलब्‍ध कराएंगे। तीन चरणों में कुल 52.5 प्रतिशत मतदान हुआ था। प्रदेश की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) महानगरों में अपना दबदबा बनाए रखने में अब तक सफल रही है। नगर निगम के पिछले चुनाव में भले ही भाजपा के 10 महापौर जीतने में कामयाब रहे थे, लेकिन उन्हें किसी भी निगम सदन (बोर्ड) में बहुमत नहीं मिला था। सम्पूर्ण 652 निकायों की गणना के लिए प्रदेश में 334 मतगणना स्थल स्थापित किए गए थे जिनमें कुल 11,200 टेबल मतगणना के लिए लगायी गयी थी। मतगणना में कुल 56,000 कार्मिक नियुक्त किए गए थे। पहली बार नगरीय निकाय चुनाव में सभी पार्टियों ने अपने चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ा। इन चुनावों को वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले जनता का मन टटोलने के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा था। सभी विजयी प्रत्याशियों को निर्वाचन परिणाम एसएमएस के माध्यम से भी प्रेषित किए जाएंगे तथा उस निकाय के वे मतदाता जिन्होंने अपना मोबाइल नम्बर आयोग के डेटाबेस में दर्ज करा रखा है उन्हें भी एसएमएस के माध्यम से परिणाम भेजे जाएंगे।

UP नगर निकाय चुनाव नतीजे 2017 LIVE: कहां से कौन जीता, पढ़‍िए ताजा रुझान

देखें, किसी नगर निगम में कौन जीता:

आगरा – दिगंबर सिंह ठाकरे, बसपा (रुझान)

अयोध्‍या – ऋषिकेश उपाध्‍याय, भाजपा (रुझान)

अलीगढ़ – भाजपा (रुझान)

मथुरा – मुकेश आर्य बंधु, भाजपा

मेरठ – कांता कर्दम, भाजपा (रुझान)

गाजियाबाद – आशा शर्मा, भाजपा (रुझान)

झांसी – बसपा (रुझान)

लखनऊ – संयुक्ता भाटिया, भाजपा (रुझान)

कानपुर – भाजपा (रुझान)

वाराणसी – मृदुला जायसवाल, भाजपा (रुझान)

इलाहाबाद – अभिलाषा, भाजपा (रुझान)

फिरोजाबाद- भाजपा (रुझान)

सहारनपुर – ब्रिजेंद्र व्‍यास, भाजपा (रुझान)

गोरखपुर – सीताराम जायसवाल, भाजपा (रुझान)

बरेली – उमेश गौतम, भाजपा (रुझान)

मुरादाबाद – भाजपा (रुझान)

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के लिए यह चुनाव प्रतिष्ठा का प्रश्न बना हुआ था। इन चुनाव को लेकर भाजपा की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने करीब तीन दर्जन जनसभाओं को संबोधित किया। संभवत: ऐसा पहली बार है जब किसी मुख्यमंत्री ने नगरीय निकाय चुनाव में प्रचार किया है। वैसे, पूर्व में भी नगरीय निकायों में भाजपा का ही दबदबा रहा है। वर्ष 2012 में हुए नगरीय निकाय चुनाव में प्रदेश के 12 में से 10 नगर निगमों में भाजपा के ही मेयर चुने गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *