अब विनोद कांबली देंगे कोचिंग, बोले- सचिन की वजह से हो रही मैदान पर वापसी – former indian cricketer vinod Kambli Credits Sachin Tendulkar for Bringing Him Back on Field

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज विनोद कांबली ने कहा है कि उन्होंने कोच बनने का फैसला दोस्त और टीम के साथी रहे सचिन तेंडुलकर की सलाह पर किया है। तेंडुलकर और कांबली दिग्गज क्रिकेट कोच रमाकांत आचरेकर के शिष्य है। अपनी दोस्ती के लिए मशहूर इन दोनों खिलाड़ियों ने भारत का प्रतिनिधित्व भी किया है। कांबली ने कहा कि क्रिकेट मैदान वह खिलाड़ी नहीं, बल्कि कोच के रूप में वापसी कर रहे है जिसका श्रेय तेंदुलकर को जाता है।

उन्होंने कहा, ‘जब मैंने क्रिकेट से संन्याय लिया था, तब मैंने कमेंट्री या टीवी पर विशेषज्ञ बनने के बारे में सोचा लेकिन क्रिकेट के प्रति मेरा प्यार हमेशा बना रहा, इसलिए मैं फिर से मैदान पर आ रहा हूं।’ बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के बांद्रा कुर्ला परिसर में एक क्रिकेट कोचिंग अकादमी के लॉन्च के मौके पर मौजूद थे। इस अकादमी में वह कोचिंग सत्र आयोजित करेंगे।

बड़ी खबरें

इसपर लगातार दो टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले देश के पहले बल्लेबाज कांबली ने कहा, ‘सचिन को पता है मुझे क्रिकेट से कितना लगाव है, इसलिए उन्होंने मुझ से कहा कि मैं कोचिंग देना शुरू करूं। उन्होंने मुझे जो रास्ता दिखाया मैं उस पर चलने की कोशिश कर रहा हूं।’ उन्होंने कहा कि कोचिंग लेने वाले छात्रों को वह उन मूल्यों के बारे में बताएंगे जो उन्होंने आचरेकर से सिखा है। कांबली ने कहा, ‘आचरेकर सर से मिले मूल्यों को मैं छात्रों के साथ साझा करूंगा।’

बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम के प्रमुख खिलाड़ी रहे विनोद कांबली ने 17 टेस्ट मैचों में करीब 54 की औसत से 1817 रन बनाए हैं। इस प्रारूप में उनके नाम चार शतक और दो दोहरे शतक है। इस दौरान उन्होंने तीन अर्धशतक भी लगाए हैं। वहीं 104 एक दिवसीय क्रिकेट में कांबली ने 3443 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने दो शतक और 14 अर्ध शतक जड़े।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *