नाबाद 1009 जड़ने वाले प्रणव धनावड़े ने अवसाद में आकर छोड़ा क्रिकेट, कभी सचिन से हुई थी तुलना – Frustrated Pranav Dhanawade not playing cricket at the moment

महज 15 साल की उम्र में अंतर स्कूल टूर्नामेंट में नाबाद 1009 रन जड़ चुके प्रणव धनवाड़े क्रिकेट इतिहास में चार अंकों का स्कोर बनाने वाले दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं। हालांकि क्रिकेट मैदान पर गेंदबाजों में दहशत फैला चुके प्रणव आज परिस्थितियों के आगे खुद घुटने टेक चुके हैं। जी हां, ये वही बल्लेबाज है, जिसकी कभी सचिन तेंदुलकर से तुलना हुआ थी लेकिन आज भयंकर तनाव के चलते प्रणव क्रिकेट ही खेलना छोड़ चुका है।

बता दें कि प्रणव की बल्लेबाजी देखते हुए इस प्लेयर को मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) 10 हजार प्रतिमाह स्कॉलरशिप दी गई ताकि वह अपनी पढ़ाई और खेल को जारी रख सके लेकिन इसके बाद खराब फॉर्म के चलते प्रणव को दरकिनार कर दिया गया। रूठे हालात ने यहीं पर साथ नहीं छोड़ा। एआईआर इंडिया और दादर यूनियर ने भी प्रणव को अपने यहां नेट प्रेक्टिस से रोक दिया। इसके चलते गहरे अवसाद में आ चुके इस बल्लेबाज ने क्रिकेट खेलना ही छोड़ दिया।

इतना ही नहीं पिता प्रशांत धनावड़े ने जब एमसीए को स्कॉलरशिप फिर से देने के हेतु लेटर लिखा तो जवाब आया कि- ‘जब प्रणव फिर से शानदार फॉर्म में होगा तो इसे जारी रखा जाएगा।’

हालांकि प्रणव के कोच मोबिन शेख का कहना है कि ’16 साल के इस खिलाड़ी को वो लगातार मोटिवेट करने की कोशिश कर रहे हैं। सुर्खियों में छाने के बाद प्रणव अपना फोकस काफी हद तक खो चुका है। लगातार आलोचना भी इसकी अहम वजह है लेकिन मुझे यकीन है कि अगले साल तक हम प्रणव के रूप में एक शानदार बल्लेबाज को देखेंगे।’

फोटो गैलरी:

Hardik Pandya, hardik Elder brother, Krunal Pandya, Pankhuri sharma, krunal pandya marriage,

प्रणव ने मुंबई क्रिकेट संघ द्वारा आयोजित भंडारी कप अंतर स्कूल टूर्नामेंट में आर्य गुरुकुल के खिलाफ केसी गांधी हायर सेकेंडरी स्कूल की तरफ से खेलते हुए महज 323 गेंदों पर यह स्कोर बनाया और इस दौरान उसका स्ट्राइक रेट 312.38 रहा। अपनी पारी में उन्होंने 59 छक्के और 129 चौके मारे थे। प्रणव के पापा ऑटो रिक्शा ड्राइवर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *