महेंद्र सिंह धोनी को दी जाएगी टॉप प्लेयर्स के मुकाबले कम सैलरी, जानें क्या है वजह – indian cricketer MS dhoni likely to misse out on top bcci contract

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट (बीसीसीआई) के टॉप सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की लिस्ट से बाहर हो सकते हैं। दरअसल कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (सीए) ने भारतीय टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली और टीम के प्रमुख कोच रवि शास्त्री के साथ हुई एक मीटिंग के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ियों की सैलरी बढ़ाने का निर्णय लिया था। मीटिंग पिछले साल 30 नवंबर को हुई थी। अब कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन ने चार ग्रेड वाला फॉर्मूला तैयार किया है। इसमें खिलाड़ियों को A+, A, B और D फॉर्मूले के आधार पर सैलरी दी जाएगी।

रिपोर्ट के अनुसार टीम में जो खिलाड़ी हर प्रारूप में खेल रहा है वह A+ ग्रेड में आता है। ऐसे में धोनी इस ग्रेड से बाहर हो सकते हैं। क्योंकि वह टेस्ट प्रारूप से संन्यास ले चुके हैं। ये जानकारी न्यूज चैनल इंडिया टुडे के हवाले से है। हालांकि A+ ग्रेड में आने वाले खिलाड़ियों की आईसीसी रैंकिंग पर का खासा ध्यान रखा जाएगा। धोनी वर्तमान में कोहली, पुजारा, अश्विन, रहाणे और मुरजी विजय के साथ ग्रेड ए में हैं।

बड़ी खबरें

वहीं अश्विन और जडेजा बीसीसीआई की रोटेशन पॉलिसी के तहत काफी समय से वनडे क्रिकेट में टीम का हिस्सा नहीं हैं। इसके बाद भी उन्हें A+ ग्रेड में रखा जाएगा। ऐसा इसिलए है क्योंकि दोनों खिलाड़ी की आईसीसी में रैंकिंग काफी अच्छी है। इसके अलावा जो खिलाड़ी चोटिल हैं या फिर उन्हें आराम दिया गया है, उन्हें किस ग्रेड में रखा जाएगा इसपर भी विचार किया जाएगा। इस मामले में फैसला लेने से पहले नई गाइडलाइन बीसीसीआई की आर्थिक समिति के पास भेजी जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *