युसूफ पठान को BCCI ने दे दी IPL खेलने की इजाजत, मगर वाडा लगा सकता है 4 साल का बैन – BCCI Allows Yusuf Pathan To Play IPL But WADA can have 4 Year Ban

क्रिकेटर युसूफ पठान भले ही पहले डोप अपराध के लिए बीसीसीआई द्वारा लगाया गया पांच महीने का पूर्वप्रभावी प्रतिबंध जल्दी ही पूरा कर लेंगे लेकिन विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी के प्रोटोकाल के तहत मामला अभी भी लंबित है। भारतीय हरफनमौला पठान पर डोप टेस्ट में नाकाम रहने के कारण पांच महीने का पूर्वप्रभावी प्रतिबंध लगाया गया था जो 14 जनवरी को खत्म हो जाएगा। बीसीसीआई ने उनकी यह दलील स्वीकार कर ली थी कि उन्होंने अनजाने में प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन किया है। वाडा के मीडिया और कम्युनिकेशंस मैनेजर मैगी डूरंड ने पीटीआई के ईमेल के जवाब में कहा, ‘‘चूंकि यह मामला लंबित है तो हम इस पर टिप्पणी नहीं कर सकते।’’ वाडा की डोपिंग आचार संहिता 2015 के तहत पहली बार अपराध पर चार साल के निलंबन का प्रावधान है।

बीसीसीआई ने एक बयान में कहा, ‘‘युसूफ पठान पर डोपिंग उल्लंघन के कारण निलंबन लगाया गया। उन्होंने अनजाने में एक प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन कर लिया जो आमतौर पर सर्दी खासी के सिरप में पाया जाता है।’’ पठान ने पिछले साल 16 मार्च को बड़ौदा और तमिलनाडु के बीच एक घरेलू टी20 मैच के बाद बीसीसीआई के डोपिंग निरोधक परीक्षण कार्यक्रम के तहत मूत्र का नमूना दिया था। बोर्ड ने कहा था, ‘‘उनके नमूने की जांच की गई और उसमें टरबूटेलाइन के अंश मिले। यह वाडा के प्रतिबंधित पदार्थों की सूची में आता है।’’

पठान ने कहा था कि उन्हें यकीन था कि जान बूझकर सेवन का आरोप उन पर नहीं लगेगा। उन्होंने हालांकि भविष्य में और सतर्क रहने की बात कही। बता दें कि पठान ने हाल ही कहा था कि उन्होंने सिरप टीम के डॉक्टर की अनुमति के बाद लिया था। गले में इन्फेक्शन के चलते उन्हें उस समय काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। इसके बाद उन्होंने डॉक्टर के निर्देशानुसार सिरप का इस्तेमाल किया था। मालूम हो कि सिरप के अंदर कुछ नशीले पदार्थ होते हैं। पठान ने कहा था कि मैं कभी कुछ ऐसा करने की कोशिश नहीं करूंगा जिससे मातृभूमि के सम्मान को ठेस पहुंचे या बड़ौदा की टीम की बदनामी हो। पठान ने अपनी गलती मान ली, जिसके बाद बीसीसीआई ने भी उन पर केवल पांच महीने का ही बैन लगाना उचित समझा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *