हरजिंदर सिहं करेंगे शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में भारतीय दल की अगुवाई – Harjinder Singh Chief of Ice Appointed Chef de Mission for Winter Olympics 2018

भारतीय आइस हॉकी महासंघ के महासचिव हरजिंदर सिंह को बुधवार को शीतकालीन ओलम्पिक खेलों के लिए भारत का शेफ दे मिशन बनाया गया है। इस साल दक्षिण केरिया के प्योंगचांग में शीतकालीन ओलम्पिक खेलों का आयोजन नौ से 23 फरवरी तक होगा। भारतीय ओलम्पिक एसोसिएशन के अध्यक्ष नरिंदर ध्रुव बत्रा ने हरिंदर को लिखे पत्र में कहा, “आशा है कि आपके मार्गदर्शन और नेतृत्व में भारतीय टीम शीतकालीन ओलम्पिक खेलों में अच्छा प्रदर्शन करेगी।” वहीं, भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) के अध्यक्ष अजय सिंह ने बुधवार को इस बात को माना कि खेलों में राजनीति ने कई खिलाड़ियों के उभरते करियर को चौपट कर दिया। अजय सिंह ने यह बात अनुराग कश्यप की आने वाली फिल्म ‘मुक्काबाज’ के कलाकारों के साथ इंडियन ओपन ऑफ बॉक्सिंग के लांच के मौके पर संवाददाताओं से कही।

अजय सिंह ने कहा, “खेलों में बहुत राजनीति है। राजनीति कई खिलाड़ियों को पीछे रखती है। 1.3 अरब की जनसंख्या होने के बाद भी हम ओलम्पिक में सिर्फ दो पदक लेकर लौटते हैं, यह हमारे लिए बेहद शर्म की बात है।” उन्होंने कहा, “यह वो जगह है जहां सुधार की जरूरत है और यह तभी किया जा सकता है जब प्रशासक खिलाड़ियों पर ध्यान देंगे ना कि सिर्फ अपने आप पर और खेलों में राजनीति पर।” अजय सिंह ने साथ ही केंद्रीय खेल मंत्रालय की तारीफ करते हुए कहा कि मंत्रालय अपनी तरफ से सभी खेलों को अच्छा समर्थन दे रहा है। अब खेल प्रशासकों को मंत्रालय द्वारा जताए गए विश्वास पर खरा उतरना चाहिए। बीएफआई अध्यक्ष ने इस साल कई मुक्केबाजी प्रतियोगिताओं के आयोजन की घोषणा की। अभी तुरंत, 28 जनवरी से एक फरवरी तक दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में इनामी राशि वाले इंडियन ओपन ऑफ बॉक्सिंग का आयोजन होगा।

बड़ी खबरें

अजय सिंह ने कहा कि इसमें 25 देश हिस्सा ले रहे हैं। स्वर्ण पदक जीतने वाले को 2500 डॉलर, रजत पदक विजेताओं को एक हजार डॉलर व हर श्रेणी के कांस्य पदक विजेताओं को पांच सौ डालर इनाम में मिलेंगे। बीएफआई के गठन के बाद खेल में हासिल की गई उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए अजय ने कहा, “काफी वर्षों से मुक्केबाजी की महासंघ इस देश में नहीं थी। एक साल पहले बीएफआई का गठन किया गया और इस एक साल में काफी प्रगति खेल में देखने को मिली। भारतीय मुक्केबाजों ने पूरे विश्व में पदक अपने नाम किए।” उन्होंने कहा, “हर एक वर्ग में साल भर हमारे प्रशिक्षण शिविर चलते हैं। हम बड़ी तादाद में चैम्पियनशिप का आयोजन कर रहे हैं।”

अजय ने कहा, “हाल ही में, इतिहास में पहली बार भारत ने यूथ महिला वर्ल्ड चैम्पियनशिप का गुवाहाटी में आयोजन किया जहां देश की लड़कियों ने पांच स्वर्ण और दो कांस्य पदक अपने नाम किए। इससे पहले भारत ने इस टूर्नामेंट सिर्फ एक कांस्य पदक ही जीता था।” अध्यक्ष ने कहा, “विश्व संस्था एआईबीए ने कहा कि यह अभी तक का सबसे सफल आयोजन है, और यह हमारे लिए शानदार अनुभव रहा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *