cricket story: when Yuvraj Singh say to Rohit Sharma, Ye meri seat hai, utho yahan se – जब साथी खिलाड़ी ने रोहित शर्मा से कहा- ये मेरी सीट है, उठो यहां से…

रोहित शर्मा ने श्रीलंका के खिलाफ विस्फोटक बल्लेबाजी कर एक बार फिर से फैंस के दिलों में जगह बना ली है। वनडे मैच में तीन दोहरे शतक लगा चुके रोहित ने टी20 में सबसे तेज शतक जड़ सनसनी ही मचा दी। रोहित आज गेंदबाजों के दिल में खौफ पैदा कर चुके हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस बल्लेबाज के साथ टीम इंडिया में शुरुआती दिनों में क्या हुआ था? एक वक्त ऐसा भी रहा, जब रोहित टीम में नए थे और साथी खिलाड़ी ने उन्हें सीट से उठा दिया था। हालांकि आप इतना चौंकिए मत, ये महज एक मजाक ही था, जो युवराज सिंह ने किया था।

दरअसल हुआ यूं कि जब रोहित शर्मा पहली बार सन् 2007 में विदेश दौरे पर गए तो युवी ने उनके साथ मस्ती करने की सोची। टीम को बस पकड़नी थी तो रोहित करीब एक घंटा पहले होटल की लॉबी में पहुंच गए। बस के आते ही वह अंदर जाकर एक सीट पर बैठ गए। रोहित के पीछे युवराज आए और कहा, ‘तुम जानते हो इस सीट पर कौन बैठता है? ये मेरी सीट है। तुम यहां से उठो और किसी दूसरी सीट पर जाकर बैठो।’

रोहित शर्मा ने 174 वनडे मैचों की 168 पारियों में 26 बार नाबाद रहते हुए 6424 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 264 रहा। ये रिकॉर्ड आज तक कोई नहीं तोड़ सका है। वहीं 71 टी20 मुकाबलों की बात करें तो रोहित ने 2 शतक के साथ 1647 रन बनाए हैं। वह इस फॉर्मेट में 2 शतक जड़ने वाले इकलौते भारतीय हैं। रोहित शर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय मैचों के तीनों फॉर्मेट में कुल 21 शतक जड़े हैं।

विराट कोहली की गैरमौजूदगी में टीम इंडिया की कप्तानी करने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने के मामले में दक्षिण अफ्रीका के डेविड मिलर की बराबरी कर ली है।

इसी के साथ रोहित भारत की तरफ से टी-20 में सबसे तेज शतक लगाने वाले बल्लेबाज बने। रोहित ने श्रीलंका के खिलाफ मैच में 43 गेंदों में 118 रनों की पारी खेली थी। इस दौरान उन्होंने अपना शतक 35 गेंदों में पूरा किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *