Former indian cricketer Syed Kirmani pledges to donate eyes and than retracts from it – पहले लिया नेत्रदान का संकल्प, फिर धर्म का हवाला देकर सैयद किरमानी ने लिया यू-टर्न

किसी जमाने में इंडियन क्रिकेट टीम में विकेटकीपर रहे सैयद किरमानी को कौन नहीं जानता। भारतीय क्रिकेट के इतिहास में किरमानी का नाम सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपरों में शामिल है। अपनी शानदार विकेटकीपिंग से सबको हैरान करने वाले किरमानी ने शनिवार को एक बार चौंकाने वाला काम किया है। रोटरी राजन आई बैंक और रोटरी क्लब ऑफ मद्रास की ओर से आयोजित किए गए जागरूकता अभियान में पूर्व क्रिकेटर किरमानी ने नेत्रदान करने की प्रतिज्ञा ली और बाद में इसे वापस भी ले लिया। टीओआई के मुताबिक राजन आई केयर के डॉ. राजन की मौजूदगी में किरमानी ने कहा था, ‘मैंने नेत्रदान करने की प्रतिज्ञा ले ली है और आप भी ऐसा कीजिएगा। नेत्रदान करने का विचार केवल उस वक्त आता है जब आप उस उम्र में पहुंच जाते हैं। राजन दूसरों की मदद करके एक बहुत ही अच्छा काम कर रहे हैं। अगर हमारे जैसे जानेमाने चेहरे सामने आएंगे तो यह काफी मददगार होगा।’

हालांकि बाद में किरमानी ने अपनी बात से यू-टर्न लेते हुए नेत्रदान करने से मना कर दिया। 68 वर्षीय किरमानी ने कहा कि उस वक्त ऐसा क्षण था कि उन्होंने नेत्रदान करने की बात कह दी, लेकिन धार्मिक कारणों की वजह से वह अपनी प्रतिज्ञा को पूरा नहीं कर सकेंगे। टीओआई के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘मैं एक भावनात्मक और भावुक व्यक्ति हूं। मैं राजन की पहले से काफी प्रभावित था और इसलिए मैंने नेत्रदान करने की बात कह दी, लेकिन कुछ धार्मिक मूल्यों के कारण मैं अपनी प्रतिज्ञा पूरी नहीं कर सकूंगा और देश का हर व्यक्ति अपनी प्रतिज्ञा को पूरा नहीं करता, लेकिन बाकी लोग जो अपनी आंख दान करना चाहते हैं उन्हें आगे आने से नहीं रुकना चाहिए।’

इस मामले में डॉक्टर राजन ने कहा कि यह किरमानी का व्यक्तिगत फैसला है। उन्होंने कहा, ‘किरमानी इस कार्यक्रम में शामिल हुए जो कि बहुत ही अच्छी बात है, लेकिन किरमानी क्या करना चाहते हैं उस पर मैं कुछ कमेंट नहीं कर सकता। अगर वह नेत्रदान नहीं करना चाहते हैं तो इसमें मुझे कोई परेशानी नहीं है।’ जहां किरमानी अपनी बात से पीछे हट गए हैं तो वहीं सुनील गावस्कर, कपिल देव, एडम गिलक्रिस्ट और आर अश्विन ने नेत्रदान करने की प्रतिज्ञा ले ली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *