IND vs SA: इस सवाल पर पत्रकार से बोले रवि शास्‍त्री- 4 साल पहले पूछते तो जवाब ना में होता – IND Vs SA: Indian Cricket Team Head Coach Ravi Shashtri said team good experience and strong strength

भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने आज यहां कहा कि भी पांच जनवरी से दक्षिण आफ्रीका के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला में उन्हें चुनौती देने के लिये मौजूदा टीम के पास अनुभव और मजबूत बेंच स्ट्रेंथ है। दक्षिण अफ्रीका पहुंचने के बाद पहली बार यहां मीडिया से मुखातिब हुये शास्त्री ने कहा कि विदेशी हालात से सामंजस्य बिठाना भारतीय टीम की सफलता का मंत्र होगा। शास्त्री ने कहा, ‘‘मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि टीम चुनौती के लिये तैयार है। अगर आप यह सवाल चार साल पहले पूछते तो मेरा जवाब ना में होता, लेकिन इस टीम के पास अनुभव है।’’

उन्होंने कहा,‘‘ इस टीम की खूबसूरती यही है कि उसे फर्क नहीं पड़ता कि वह किस टीम के खिलाफ खेल रही है। हम पिच को देखेंगे और हालात के अनुरूप ढलेंगे।’’ शास्त्री ने कहा, ‘‘तेज गेंदबाजी में भी आपके पास बेंच स्ट्रेंथ है जो 20 विकेट लेने के लिये जरूरी है।’’ शास्त्री से जब पूछा गया कि भारत के मजबूत तेज गेंदबाजी को देखते हुये क्या क्यूरेटरों को तेज गेंदबाजी के मुफीद पिच तैयार करने पर दोबारा विचार करना चाहिये तो उन्होंने कहा, ‘‘हमारे लिये हर मैच घरेलू मैच की तरह है। हमारे लिये न्यूलैंड्स भी घर जैसा है। आप पिच के मुताबिक ढलते हो, ना कोई बहाना, ना कोई शिकायत। दोनों टीमों को एक ही तरह के सतह पर खेलना है। कल आप इंग्लैंड जायेंगे तो वहां हर पिच पर गेंद स्विंग होगी। भारत में स्पिनरों को मदद वाली पिच मिलेगी। अगर आपको अच्छी टीम बनानी है तो यह सब बातें छोड़कर, जैसे भी हालात हो उसमें मुकाबला करना होगा।’’

संबंधित खबरें

शास्त्री ने कहा कि भारतीय खिलाड़ी श्रृंखला में खुद को साबित करने के लिये बेताब हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे कई खिलाड़ी अपने खेल से संतुष्ट होना चाहते हैं। ये संतुष्टी तब मिलती है जब आप विदेश में रन बनाते है या विकट चटकाते है। इसलिये यहां एक चुनौती है। वे चाहते है कि टेस्ट मैच जल्द से जल्द शुरू हो।’’ शास्त्री ने कहा, ‘‘दक्षिण अफ्रीका हमेशा अच्छी हरफनमौला टीम रही है। मैंने पहले भी कहा है कि पिछले दो साल में किसी टीम ने यहां अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है। भारत ने ऐसा करना शुरू कर दिया है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *