Lt Col MS Dhoni visits Army Public School in Srinagar, motivates students – आर्मी स्‍कूल पहुंचकर लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी ने बच्‍चों को चौंकाया, दिया ये ज्ञान

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी गुरुवार (22 नवंबर) को श्रीनगर के एक स्‍कूल पहुंचे और बच्‍चों के साथ वक्‍त बिताया। भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्‍स ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। धोनी के आने की खबर को पत्रकारों से छिपा कर रखा गया था और कुछ लोगों को ही इसका पता था कि धोनी श्रीनगर के आर्मी पब्लिक स्‍कूल आने वाले हैं। धोनी को सेना में ‘लेफ्टिनेंट कर्नल’ की रैंकि मिली हुई है। बच्‍चों के बीच पहुंचकर धोनी ने उन्‍हें खेल और पढ़ाई पर ध्‍यान देने के लिए प्रेरित किया। सेना ने बच्‍चों से बात करते धोनी की कुछ तस्‍वीरें भी ट्वीट की हैं। 2012 में भी एमएस धोनी सीमावर्ती राज्‍यों में गए थे। फिलहाल धोनी ब्रेक पर हैं। टेस्‍ट क्रिकेट से रिटायर होने के बाद वह वनडे और टी20 ही खेल रहे हैं। 10 दिसंबर से श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला शुरू हो रही है, जिसमें धोनी खेलेंगे।

बड़ी खबरें

न्‍यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के बाद कई पूर्व क्रिकेटरों ने टीम में धोनी की जगह पर सवाल उठाए हैं। मगर कोच रवि शास्‍त्री और कप्‍तान विराट कोहली, दोनों ने ही धोनी का बचाव किया। शास्‍त्री ने धोनी के आलोचकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जो दो बार के विश्व विजेता कप्तान पर उंगली उठा रहे हैं, उन्हें अपनी गिरेबां में झांकना चाहिए। शास्त्री ने कहा, “धोनी पर बोलने से पहले लोगों को अपने करियर की ओर देखना चाहिए। पूर्व कप्तान के अंदर अभी भी काफी क्रिकेट बाकी है और टीम की यह जिम्मेदारी है कि वह लीजेंड खिलाड़ी का बचाव करे।”

धोनी के समर्थन में कोहली ने कहा था कि ”मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि लोग उन पर उंगली क्यों उठा रहे हैं? मैं इस बात को समझ नहीं पा रहा हूं। अगर मैं तीन बार अपनी क्षमता को साबित करने में असफल रहता हूं, तो कोई भी मुझ पर उंगली नहीं उठाएगा, क्योंकि मैं 35 साल का नहीं हूं। वह (धौनी) फिट हैं और उन्होंने सारे फिटनेस टेस्ट पास किए हैं। वह हर संभव तरीके से टीम के लिए योगदान दे रहे हैं। फिर चाहे रणनीतिक तौर पर हो या बल्लेबाजी से। अगर आप श्रीलंका और आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई सीरीज को देखें, तो उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *