Nasir Jamshed has been slapped with a one-year ban for his involvement in the PSL spot-fixing scandal- फिर फिक्सिंग के कीचड़ में पाकिस्तान, नासिर जमशेद पर लगा एक साल का बैन

पाकिस्तान क्रिकेट टीम में एक और खिलाड़ी का नाम स्पॉट फिक्सिंग से जुड़ गया है। पाकिस्तान की तरफ से ओपनिंग करने वाले बल्लेबाज नासिर जमशेद को पाकिस्तान सुपर लीग में फिक्सिंग का दोषी पाया गया है। जिसके बाद बोर्ड ने जमशेद पर एक साल का बैन लगाना उचित समझा। जमशेद ने 48 वनडे में 31.51 के औसत से 1418 रन बनाए हैं। जमशेद के नाम 3 शतक और 8 वनडे अर्धशतक भी हैं। इसके अलावा जमशेद ने पाकिस्तान के लिए 2 टेस्ट और 18 टी20 मैच भी खेले हैं। आपको बता दें कि पीसीबी के एंटी करप्शन ट्राइब्यूनल की शिकायत है कि जमशेद को फिक्सिंग मामले की सभी जानकारी थी। इसके बावजूद भी जमशेद ने एंटी करप्शन ट्राइब्यूनल को सहयोग नहीं दिया और उनसे काफी बातें छिपाकर रखा। जानकारी होने के बाद भी सहयोग ना करने से नाराज बोर्ड ने उन पर एक साल तक क्रिकेट ना खेलने का बैन लगा दिया है। हालांकि बोर्ड के इस फैसले से पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर खुश नहीं हैं। पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर सिकंदर बख्त ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि ‘मैं बोर्ड के इस फैसले से बिल्कुल खुश नहीं हूं’। बख्त ने कहा कि ये सजा काफी नहीं है।

nasir नासिर जमशेद (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

उन्होंने कहा कि जमशेद इस मामले में सबसे बड़े दोषी हैं और उनको खिलाड़ियों से ज्यादा सजा मिलनी चाहिए। बता दें कि जमशेद पाकिस्तान सुपर लीग का हिस्सा नहीं थे। इसके बावजूद भी उन्हें स्पॉट फिक्सिंग से जुड़ी सारी बातों की जानकारी थी। इससे पहले पाकिस्तानी बल्लेबाज शरजील खान और खालिद लतीफ पर 5-5 साल का बैन लगाया जा चुका है।

इससे पहले मैच फिक्सिंग में दोषी करार पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ ने चौंकाने वाले खुलासे किए थे। दाएं हाथ के इस पाकिस्तानी तेज गेंदबाज ने दावा किया कि बुकी माफिया भारत में बैठा है, लेकिन उसका जाल पाकिस्तान समेत अनेक देशों में फैला है। मैच फिक्सिंग में दोषी पाए जाने पर आसिफ के अलावा सलमान बट और मोहम्मद आमिर को पांच से दस वर्षों तक के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *