Sachin Tendulkar scary experience during his school days while crossing the rail tracks- अपनी इस हरकत को याद कर आज भी कांप उठते हैं सचिन तेंदुलकर, बाल-बाल बची थी जान

क्रिकेट के मैदान में हमेशा लोगों के लिए आकर्षण बने रहने वाले सचिन तेंदुलकर रिटायरमेंट के बाद भी किसी ना किसी वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। सचिन तेंदुलकर का नाम क्रिकेट की दुनिया में बड़ी इज्जत के साथ लिया जाता है। इसकी वजह उनका बेहतरीन क्रिकेट करियर रहा है। सचिन ने भारत की तरफ से खेलते हुए कई उपलब्धियां हासिल की है। लेकिन जरा सोचिए अगर भारतीय टीम में सचिन तेंदुलकर नहीं होते तो? ये सोचते हुए भी डर लगता है ना। दरअसल, सचिन तेंदुलकर ने एक इंटरव्यू के दौरान अपनी लाइफ से जुड़ा एक ऐसा किस्सा शेयर किया था जिसे सुनकर उनके फैंस शॉक्ड रह गए थे। ये तो हम सभी जानते हैं कि सचिन बचपन से ही क्रिकेट खेलना काफी पसंद करते थे। क्रिकेट का जुनून सचिन के सिर पर कुछ इस कदर रहता था कि उन्हें उसके अलावा और कुछ नजर ही नहीं आता था। एक इंटरव्यू में सचिन ने बताया कि मैं जब ग्यारह साल का था तो रेल में सफर करना शुरू कर दिया था। मैं अपने सफर में अपना किट बैग भी रखता था। रेल में भीड़ होने के कारण मैं भी खूब धक्के खाता था।

बड़ी खबरें

अपने साथ हुए एक घटना का जिक्र करते हुए सचिन ने कहा था कि वह विले पार्ले से अपने दोस्त के पास जाते थे। सुबह और शाम वह और उनके 5-6 दोस्त क्रिकेट का अभ्यास किया करते थे। एक दिन सुबह अभ्यास कर हम सभी फिल्म देखने चले गए। फिल्म देखकर आते समय शाम हो रही थी और हमें जल्द से जल्द ग्राउंड में अभ्यास करने पहुंचना था। इस वजह से हमने फुट ब्रिज की जगह रेल पटरी पार कर जाने लगे।

लेकिन तभी एक ट्रेन तेज रफ्तार में हमारी तरफ आ रही थी। हम सभी के लिए वो पल काफी डरावना था। इस घटना के बाद मैंने कभी भी पैदल पटरी पार करने की जरूरत नहीं की। इस घटना के बाद सचिन को एहसास हुआ कि जरा सी लापरवाही उनकी जान ले सकती थी। इसके बाद उन्होंने दूसरों से भी इस तरह की हरकत करने से मना किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *