Suresh Raina Birthday Spl : ट्रेन में सुरेश रैना पर कर दिया था पेशाब, गंदे कपड़े भी जबरन धुलवाते थे साथी

भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना आज 31वां जन्मदिन मना रहे हैं। कभी भारतीय टीम में मिडल ऑर्डर के लिए खेलने वाले सुरेश रैना इन दिनों खराब फॉर्म की वजह से टीम से बाहर चल रहे हैं। लेकिन सुरेश रैना ने अपने करियर में भारत के लिए कई यादगार पारी खेली है। सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी ने एक साथ मिलकर कई बार टीम को मुश्किल समय से निकाला भी है। लेकिन सुरेश रैना के लिए भारतीय टीम में पहुंचने तक का सफर कतई आसान नहीं था। रैना जिला गाजियाबाद के रहने वाले हैं। लेकिन उनका बचपन लखनऊ के एक हॉस्टल में गुजरा था। जहां उन्हें कई तरह की परेशानियों को सामना भी करना पड़ता था। रैना के परिवार वालों ने एक इंटरव्यू में बताया था कि हॉस्टल में सीनियर्स अक्सर रैना के साथ रैगिंग किया करते थे। रैना को क्रिकेट का शौक बचपन से ही था वह क्रिकेट खेलने के लिए हमेश उत्सुक रहते थे। एक बार रैना आगरा क्रिकेट टूर्नामेंट खेलने ट्रेन से सफर कर रहे थे तो रात में एक मोटे बच्चे ने उन पर पेशाब भी कर दिया था। एक इंटरव्यू के दौरान इस बात का जिक्र करते हुए रैना ने अपने बीते दिनों के कई और किस्सों के बारे में बताया था। रैना बचपन से ही अपनी बल्लेबाजी की वजह से काफी पॉपुलर थे। सीनियर्स भी उनकी बल्लेबाजी को देखकर हैरान हो जाते थे। यही वजह थी कि रैना को बचपन में काफी सताया जाता था।

बड़ी खबरें

जब रैना अपने हॉस्टल में रहते थे तो सीनियर्स उनसे कई तरह के काम निकलवाते थे। इसके अलावा वह रैना और उनके दोस्तों के साथ मार-पीट भी किया करते थे। रैना की दूध में घास डालकर उन्हें पीने को कहा जाता था। रैना बाद में उस दूध से घास को छानकर उसे पीया करते थे। इतना ही नहीं रैना से वह रैगिंग के नाम पर अपने गंदे कपड़े भी धुलवाया करते थे। रैना को ऐसा करना बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा था लेकिन उनके सामने और कोई दूसरा रास्ता भी नहीं था।

जब सर्दी आती तो रैना को रात में ठंडे पानी से नहाने का ऑर्डर दिया जाता था। रैना एक बार तो परेशान होकर हॉस्टल से वापस गाजियाबाद अपने घर आ गए। लेकिन घरवालों के समझाने के बाद वह वापस हॉस्टल लौटे थे। सुरेश को पहली बार 2005 में भारत की तरफ से खेलने का मौका मिला था, उस समय वह 19 साल के थे। उन्होंने अपना पहला वनडे मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *