How to planning for a wealthy retirement: know here all details about PPF, mutual fund, national pension scheme – रिटारमेंट के बाद न हो पैसे की दिक्कत, ऐसे आसानी से जमा कर सकते हैं पैसा

आदिल शेट्टी

क्या आप भी रिटायरमेंट के बाद अपनी फाइनैंशल स्थिति को लेकर चिंतित हैं? एक बड़े फाइनैंशल इंस्टिट्यूट के सर्वे में भारत 7.6 अंक के साथ रिटायरमेंट रेडीनेस इंडेक्स में सबसे ऊपर है जबकि वैश्विक औसत स्कोर 5.9 है। आज हम कुछ ऐसे प्वॉइंट्स बताने जा रहे हैं जिनसे आप अमीर बनकर रिटायर हो सकते हैं।

शुरु करने में देर न करें
रिटायरमेंट की प्लानिंग नौकरी और बिजनेस के शुरुआती दौर में होने का बहुत फायदा होता है। इसे हल्के ढंग से नहीं लिया जाना चाहिए। आप प्रारंभिक रूप से शुरू करते हैं, तो आप रिटायर होने तक एक अच्छा खासा पैसा जमा कर सकते हैं। भले ही आप रिटायरमेंट फंड के लिए बहुत कम पैसा देते हों। आप जितना अधिक निवेश करते रहेंगे, आगे चलकर आपको उतना ही ज्यादा फायदा मिलेगा। यहां आंकड़ों को आप स्वयं देख सकते हैं।

यदि आपको अपने निवेश पर औसतन 10 फीसदी की ब्याज दर मिल जाती है। आप 10,000 रुपये महीने 10 साल के लिए निवेश करते हैं, तो आपकी जमा राशि 20.7 लाख रुपये तक हो जाती है । लेकिन अगर आप समय को 20 साल कर देते हैं, तो आपकी जमा राशि तीन गुना से ज्यादा बढ़ जाती है। हालांकि, 30 साल की अवधि कर देते हैं तो आपकी जमा राशि 10 गुना बढ़ जाती है।

बड़ी खबरें

लेकिन क्या होगा यदि आप अपने निवेश में देर कर रहे हैं? क्या आपने मौका खो दिया है? आप अमीर होकर रिटायर नहीं हो सकते? दरअसल, आप अभी भी अमीर होकर रिटायर हो सकते हैं, जब आप देर से शुरू करते हैं, तो आप समय का लाभ खो देते हैं इसलिए, आपको इस स्थिति में अमीर होकर रिटायर होने के लिए हर साल ज्यादा पैसा इनवेस्ट करना होगा या फिर ज्यादा रिस्क लेकर इनवेस्टमेंट करना होगा। मान लें कि आपको रिटायरमेंट के बाद 2 करोड़ रुपए जमा राशि की आवश्यकता है, लेकिन यहां आपके पास इस कोष को बनाने के लिए सीमित समय है। आप नीचे दिए गए चार्ट में समय के मुताबिक देख सकते हैं कि कितना निवेश करना होगा।

यदि आप ज्यादा पैसा इनवेंस्ट नहीं कर सकते हैं, तो आपको दूसरा विकल्प हाई रिस्क लेना होगा, जो आपको लंबे समय तक ज्यादा फायदा दे सकता है।


अपना निवेश चुनें
मार्केट में अलग-अलग तरह के इनवेस्टमेंट मौजूद हैं जिनमें से आप रिटायरमेंट की योजना बनाने के लिए चुन सकते हैं। हालांकि, किसी एक को चुनने से पहले उससे जुड़े रिस्क और रिटर्नस को लेकर सावधान रहना चाहिए। आइये जानते हैं कहां आपको अच्छे रिटर्नस मिल सकते हैं।

इनमें कर सकते हैं इनवेस्टमेंट
पीपीएफ- यहां रिटर्नस जरूर मिलते हैं। सार्वजनिक भविष्य निधि लोगों में लोकप्रिय है। पीपीएफ 7.8% की मौजूदा ब्याज दर का वादा करता है। साथ ही यहां निवेश एवं टैक्स फ्री  रिटर्नस दोनों की सुविधा हैं।
म्युचुअल फंड: संभवत: यह एक रिटायरमेंट फंड बनाने का अच्छा और सुविधाजनक तरीका है। आप अपनी निवेश क्षमता और जोखिम उठाने की अपनी प्रवृत्ति के आधार पर कोई म्यूचुअल फंड चुन सकते हैं। यदि आप लंबे समय तक निवेश कर रहे हैं, तो इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करना अच्छा होगा, जहां 10-12% के औसत रिटर्नस आ जाते हैं।

नेशनल पेंशन स्कीम: 18 और 60 साल के बीच की आयु का कोई भी भारतीय नेशनल पेंशन स्कीम में खाता खोल सकता है और अपने रिटायरमेंट के लिए अपनी कमाई का एक हिस्सा यहां जमा सकता है। इस पैसे को सरकारी प्रतिभूतियों, इक्विटी मार्केट और कॉर्पोरेट लोन में निवेश किया जाता है।

चेतावनी
इन उपकरणों में से किसी में निवेश करना आपके रिटायरमेंट के लिए एक अच्छा आधार प्रदान करेगा। हालांकि, यदि आप रिटायरमेंट के बाद भी समृद्ध बने रहना चाहते हैं, तो कुछ ऐसे फैसले हैं जिन्हें आपको करना चाहिए। इनमें ये शामिल हैं।
 निवेश में बने रहें सिर्फ इसलिए कि आप रिटायर हुए हैं, पूरे संचित जमा राशि को भुनाएं नहीं। आपके द्वारा अपेक्षित राशि को निकाल लें और जमा पैसे का निवेश करें। आप और रिटर्न अर्जित कर सकते हैं जो आपके धन पर अधिकतम मिल सकता है।
 सुनिश्चित करें कि आपके पास आय का निष्क्रिय स्रोत है। एक संपत्ति खरीदें और इसे किराए पर दे दें, किसी योजना (जैसे वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, डाकघर मासिक आय योजना, आदि) में निवेश करें जो नियमित आय का भुगतान करता है या किसी प्रकार के व्यवसाय से आय अर्जित करते हैं। वित्तीय आपात स्थिति के समय के लिए निष्क्रिय आय का एक स्रोत रखने की कोशिश करें।
 योजना बनाना और लक्ष्य निर्धारित करना। आप रिटायरमेंट द्वारा भी आप अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन रिटायरमेंट के बाद भी पैसे को सर्वोत्तम संभव रिटर्न प्राप्त करने के लिए अपने पैसे को ध्यानपूर्वक प्रबंधित करने की नई योजना बनाते रहें।
लेखक बैंक बाजार के सीईओ हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *