“अमेरिका इस भ्रम से बाहर निकले कि उत्तर कोरिया अपना परमाणु हथियार छोड़ देगा” – America Should Come Out of This Confusion that Uttar Korea Will Leave Nuclear Weapons

उत्तर कोरिया ने कहा कि अमेरिका का यह सोचना भ्रम है कि वह परमाणु हथियार छोड़ देगा। उसने देश को निशाना बनाने के लिए संयुक्त राष्ट्र के ताजा प्रतिबंधों को ‘युद्ध समान कृत्य’ बताते हुए कहा कि यह उसकी संप्रभुता का उल्लंघन करता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने शुक्रवार को सर्वसम्मति से उत्तर कोरिया के खिलाफ नए कठोर प्रतिबंधों को मंजूरी दी थी। ये प्रतिबंध उत्तर कोरिया के हाल में एक बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण करने के मद्देनजर लगाए गए। इस मिसाइल के बारे में प्योंगयांग का कहना है कि यह अमेरिका में कहीं भी पहुंच सकता है।

इस प्रस्ताव को अमेरिका ने तैयार किया था और उत्तर कोरिया के करीबी सहयोगी चीन के साथ बातचीत की थी। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने रविवार को एक वक्तव्य में कहा, ‘‘हम अमेरिका और उसके अनुयायियों के प्रतिबंध प्रस्ताव को हमारे गणराज्य की संप्रभुता का गंभीर उल्लंघन मानते हैं। यह युद्ध का कृत्य है जो कोरियाई प्रायद्वीप और क्षेत्र में शांति और स्थिरता का उल्लंघन करता है। हम इस प्रस्ताव को साफ तौर पर खारिज करते हैं।’’ मंत्रालय ने कहा कि प्रतिबंध उत्तर कोरिया की पूर्ण आर्थिक नाकेबंदी के समान है।

संबंधित खबरें

उत्तर कोरिया की आधिकारिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, वक्तव्य में कहा गया है, ‘‘अगर अमेरिका सुरक्षित रहना चाहता है तो उसे डीपीआरके (उत्तर कोरिया) के प्रति शत्रुतापूर्ण नीति का हर हाल में त्याग करना चाहिए और देश के साथ रहना सीखना चाहिए। उसे इस भ्रम से बाहर आ जाना चाहिए कि हम अपना परमाणु हथियार छोड़ देंगे, जिसे हमने तमाम कठिनाइयों के बावजूद विकसित किया है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *