पाकिस्तानी मीडिया ने माना, कुलभूषण की मां-पत्नी से हुई ज्यादती, कहा-अच्छा काम भी अच्छे से नहीं किया – Pakistan media accepts Kulbhushan jhadav family was ill treated Pakistan security experts thrashes Government

आखिरकार पाकिस्तान की मीडिया ने स्वीकार किया है कि इंडियन नेवी के पूर्व ऑफिसर कुलभूषण जाधव की मां और उनकी पत्नी के साथ पाकिस्तान में बुरा व्यवहार किया गया है। पाकिस्तान के एक चैनल में बहस के दौरान पाकिस्तान के अंतरराष्ट्रीय मामलों के विशेषज्ञ रउफ कलसारा ने कहा कि पाकिस्तान ने एक अच्छा काम किया था लेकिन वह भी अच्छे ढंग से नहीं कर सका। रउफ कलसारा पर बहस के दौरान एंकर ने भी कहा कि हमारे देश ने कुलभूषण जाधव को उसके परिवार वालों के साथ मिलाने का काम सदभाव के तहत किया था, लेकिन इसमें हम दोनों तरह से ही मारे गये, एंकर ने कहा कि ना तो भारत ने हमारे काम को गुडविल माना और हम पड़ोस से बदनाम हुए वो अलग। भारत को लेकर तटस्थ और स्वतंत्र राय देने के लिए प्रसिद्ध पाकिस्तानी रक्षा विशेषज्ञ ने कहा कि इसके लिए हमें पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को दोष देना होगा।

संबंधित खबरें

रउफ कलसारा ने कहा कि पहले तो पाकिस्तानी आर्मी ने मुलाकात की परमिशन देकर एक अच्छी कदम उठाई थी। लेकिन जिस तरह से उसे हैंडल किया गया वो काफी हैरान करने वाला है। उन्होंने कहा कि इसे और भी बेहतर तरीके किया जा सकता था। रउफ कलसारा ने कहा कि अगर पाकिस्तान को दोनों के बीच इसी तरह की मुलाकात करानी थी तो इतना मजमा लगाने की क्या जरूरत थी, इतना तो स्काइप के जरिये भी किया जा सका था। रउफ कलसारा ने कहा कि इस दौरान पाकिस्तानी पत्रकारों का रवैया भी बेहद निंदाजनक था। उन्होंने माना कि पत्रकारों ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ बेइज्जती की। पाकिस्तानी विशेषज्ञों के मुताबिक पत्रकार इस दौरान अपनी सारी गरिमा को भूल कर 70 साल की एक महिला के साथ बदसलूकी पर उतर आए। शो में शामिल एक दूसरे मेहमान ने कहा कि अगर हमनें मानवीय आधार पर मुलाकात की इजाजत दी थी तो पूरा ऐसा होना चाहिए था ना कि आधा-अधूरा।

बता दें कि कुलभूषण जाधव से मुलाकात करने गईं उनकी मां और पत्नी के साथ पाकिस्तानी अधिकारियों ने बेहद बुरा बर्ताव किया था। कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के मंगलसूत्र, बिंदी, चूड़ियां उतरवा लिये गये थे। इसके अलावा पाकिस्तानी अधिकारियों ने कुलभूषण की पत्नी चेतनाकुल जाधव के जूते भी अपने पास रख लिये।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *