पाकिस्तान: क्रिसमस से पहले चर्च पर हमला, प्रार्थना कर रहे 8 श्रद्धालुओं की हत्या – suicide bombers attacks Bethel Memorial Methodist Church in quetta balochistan Pakistan killing 8 person

पाकिस्तान के अशांत प्रांत बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में रविवार (17 दिसंबर) हथियारों से लैस आतंकवादियों ने एक चर्च पर हमला किया जिससे कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और 44 अन्य घायल हो गए। घायलों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं। आतंकवादियों ने जिस वक्त हमला किया, उस समय वहां रविवार की प्रार्थना चल रही थी। शहर के जारघोन मार्ग पर स्थित बेथेल मेमोरियल चर्च में यह हमला क्रिसमस से सिर्फ एक सप्ताह पहले हुआ है। बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुग्ती ने कहा कि इस हमले में कम से कम दो आत्मघाती हमलावर शामिल थे। उन्होंने कहा, ‘‘एक हमलावर को पुलिस ने भीषण मुठभेड़ में गेट पर ही मार गिराया। दूसरा हमलावर आत्मघाती जैकेट पहने चर्च के अंदर दाखिल हो गया और उसने खुद को उड़ा लिया।’’ उन्होंने कहा कि आतंकवादी हथियारों से लैस थे और ऐसा प्रतीत होता है कि वे चर्च में लोगों को बंधक बनाना चाहते थे। लेकिन सुरक्षा बलों ने उनके इरादे को नाकाम कर दिया।

बड़ी खबरें

हमले के बाद चर्च में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। तस्वीर में एक शख्स एक बच्चे को लेकर सुरक्षित स्थान पर जाते हुए (फोटो-रायटर)

बलूचिस्तान के आईजी मोजर्रम अंसारी ने कहा कि हमले के समय चर्च के अंदर करीब 400 लोग थे। अंसारी ने कहा कि चर्च की सुरक्षा में तैनात पुलिस ने समय से कार्रवाई करते हुए एक बड़ी घटना को टाल दिया। सिविल अस्पताल के डा वसीम बेग ने कहा कि आठ लोगों की मौत हो गयी और 44 अन्य लोग घायल हो गए। घायलों में से नौ की हालत गंभीर बनी हुयी है। किसी संगठन ने अभी तक इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन तालिबानी आतंकवादी विगत में ईसाई सहित अल्पसंख्यकों को निशाना बनाते रहे हैं।इस बीच हमलावरों की संख्या को लेकर विरोधाभासी खबरें हैं। अंसारी ने कहा कि हमलावरों की संख्या तीन थी जिनमें से एक को पुलिस ने मार गिराया और दूसरे ने खुद को उड़ा लिया। तीसरा हमलावर वहां से भाग गया और पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

हमले के बाद बच्चे खौफ में थे और सुरक्षित स्थान पर जाते दिखे। (फोटो-रायटर)

इसके पहले डीआईजी पुलिस अब्दुल रज्जाक चीमा ने कहा था कि हमले में दो और हमलावर शामिल थे लेकिन पुलिस द्वारा एक हमलावर को मार गिराए जाने के बाद वे वहां से भाग निकले। हमले के बाद क्वेटा के सभी अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई है। पाकिस्तान के गृहमंत्री अहसान इकबाल ने भी हमले की निंदा की है। यह हमला 2014 के पेशावर स्कूल हमले की तीसरी बरसी के एक दिन बाद हुआ है, जिसमें 150 लोगों की मौत हो गई थी। मृतकों में अधिकतर बच्चे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *