पाकिस्‍तानी पत्रकार ने कहा- हिंदुस्‍तान में मुहाल है मुसलमानों का जीना, लोगों ने पूछे तीखे सवाल – pakistani journalist hamid mir question about indian muslim protection his tv show

पाकिस्तान के मशहूर पत्रकार और जियो न्यूज के एंकर हामिद मीर अपनी एक वीडियो की वजह से विवादों में घिरे हुए हैं। उन्होंने एक टीवी प्रोग्राम ‘कैपिटल टॉक’ में हिंदुस्तान में भारतीय मुस्लिमों से भेदभाव करने का आरोप लगाया है। दरअसल आंतकी ओसामा बिन लादेन का साक्षात्कार ले चुके हामिद मीर ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में विभिन्न कथित रिपोर्टों का हवाला देते हुए कहा गया है कि भारत में मुसलमानों का जीना ‘मुहाल’ है। एक अंग्रेजी समाचार पत्र का हवाला देते हुए बताया गया कि भारत मुस्लिमों के लिए नहीं है। इसमें उत्तर प्रदेश में अराजक तत्वों द्वारा मुस्लिम इमाम पर हुए हमलों को धर्म से जोड़कर दिखाया गया है। कहा गया कि मुस्लिम जैसी पोशाक होने पर भारतीय को नफरत का शिकार होना पड़ रहा है। वीडियो में मशहूर भारतीय पत्रकार कुलदीय नय्यर के एक लेख का हवाला देते हुए दिखाया गया कि भारत में मुस्लिम अब महफूज नहीं हैं।

संबंधित खबरें

हालांकि वीडियो शेयर कर हामिद मीर खुद यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। कई यूजर्स ने पाकिस्तान कम होती हिंदुओं की आबादी पर सवाल उठाए हैं। जब एक ट्वीट में पाकिस्तान पर तंज कसते हुए पूछा गया है कि पाकिस्तान में कितने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री हैं? एक ट्वीट में लिखा गया है कि क्रिसमस पर पाकिस्तान में चर्च पर हमला हुआ। इसलिए पाकिस्तान के लिए भी ऐसा ही कहा जा सकता है।

वहीं ट्विटर यूजर विवेक गौतम हामिद मीर पर तंज कसते हुए लिखते हैं, ‘ 1950 में 24 फीसदी से आज सिर्फ एक फीसदी हिंदू और सिख पाकिस्तान में शेष बचे हैं। यहां अल्पसंख्यकों की सुरक्षा की बहुत जरूरत है।’ शाफी लिखते हैं, ‘पाकिस्तान के बारे में क्या कहेंगे। क्या वो सुरक्षित हैं?’ उस्मान शेख लिखते हैं, ‘भारत में हिंदू घटकर 70 फीसदी हो गए हैं जबकि आजादी के समय इनकी संख्या 85 फीसदी थी। उनका धर्म कौन बदलवा रहा है। जबकि इसी मामले में मुस्लिम 8 फीसदी से 15 फीसदी तक हो गए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *