स्नाइपरों की निगरानी में मां और पत्नी से हुई कुलभूषण जाधव की मुलाकात, भारत बोला- ड्रामा कर रहा पाकिस्तान – Kulbhushan Jadhav to meet his mother and wife in Pakistan India says Pakistan doing drama

कुलभूषण जाधव की मां अवन्तिका जाधव और पत्नी इस्लामाबाद स्थित पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के दफ्तर में उनसे मुलाकात कीं। ये मुलाकात बेहद कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच हुई है। पाकिस्तान ने तीनों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा के लिए शॉर्प शूटर, पाकिस्तान रेंजर्स और दूसरे अर्द्धसैनिक बलों को तैनात किया है। जिस रास्ते में विदेश मंत्रालय का दफ्तर स्थित है वहां आम लोगों के आने-पाने पर रोक लगा दी गई है। विदेश मंत्रालय के दफ्तर के बाहर मीडिया का जबर्दस्त जमावड़ा लगा हुआ है। टीवी पर दिखाए जा रहे फुटेज में जाधव का परिवार, भारत के उपउच्चायुक्त जेपी सिंह और पाकिस्तानी महिला अधिकारी सहित विदेश मंत्रालय के परिसर में प्रवेश करता हुआ दिख रहे हैं। फुटेज में सभी कार्यालय के भीतर जाते और उनके पीछे दरवाजा बंद होते दिख रहा है। पाकिस्तानी अधिकारियों ने बताया, ‘‘जाधव और उनकी मां तथा पत्नी की मुलाकात चल रही है।’’ जाधव की मां और पत्नी ने यहां पहुंचने के बाद मीडिया का अभिवादन किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। जाधव का परिवार आज ही दुबई के रास्ते इस्लामाबाद पहुंचा। फिलहाल वह भारतीय उच्चायोग से विदेश मंत्रालय पहुंचे हैं। जाधव अपने परिवार के पहुंचने से पहले ही विदेश मंत्रालय में मौजूद थे। इस संबंध में कोई सूचना नहीं है कि जाधव पहले से वहां मौजूद थे, या उन्हें यहां लाया गया है।  पाकिस्तान ने घोषणा की थी कि वह इस मुलाकात की तस्वीरें और वीडियो जारी करेगा। इसके अलावा यदि भारत रजामंदी देता है तो वह परिवार को मीडिया से बातचीत करने की भी इजाजत देगा। हालांकि बाद में अधिकारियों ने कहा कि है कि जाधव का परिवार मीडिया से बातचीत नहीं करेगा।

बड़ी खबरें

वहीं केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा है कि पाकिस्तान महज ड्रामा कर रहा है। टाइम्स नाउ से बातचीत में उन्होंने कहा कि मानवीय आधार पर मुलाकात की अनुमति देने की बात छलावा है, और पाकिस्तान मात्र ड्रामा कर रहा है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने कहा है कि उनके देश ने सजाए मौत का इंतजार कर रहे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के साथ उसके परिवार की मुलाकात के दौरान एक भारतीय राजनयिक को मौजूद रहने की इजाजत दे कर जाधव को कूटनीतिक पहुंच प्रदान की है। भारत में अधिकारियों ने आसिफ के बयान को ज्यादा महत्व नहीं दिया और कहा कि भारतीय राजनयिक सिर्फ जाधव के परिवार के साथ जा रहा है और इसको ‘‘कूटनीतिक पहुंच’’ के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।  पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने अप्रैल माह में जाधव को जासूसी और आतंकवाद के झूठे आरोप में मौत की सजा सुनाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *