A Pakistani convicted in provoking minor for physcial itnteraction now demands he should not send hid home country as his life would be endangered – नाबालि‍ग को शारीरि‍क संबंध बनाने के लि‍ए उकसाया, दोषी ठहराए जाने पर बोला- वापस मत भेजो, पाकि‍स्‍तान में बहुत खतरा है

ब्रि‍टेन में एक अजीबोगरीब घटना सामने आई है। एक नाबालि‍ग को शारीरि‍क संबंध बनाने के लि‍ए उकसाने के मामले में एक पाकि‍स्‍तानी को 17 महीने जेल की सजा सुनाई गई है। अब वह अपनी सजा को आधार बनाकर ब्रि‍टेन में शरण पाने की जुगत में जुटा है। पाकि‍स्‍तानी नागि‍रक की पहचान आदि‍ल सुल्‍तान (39) के तौर पर की गई है। उसने स्‍कूल में पढ़ने वाली 14 वर्षीय एक कि‍शोरी के साथ ऑनलाइन चैट करना शुरू कि‍या था। हकीकत में आदि‍ल एक नि‍गरानी संस्‍था ‘गार्जि‍यंस ऑफ द नॉर्थ’ के सदस्‍यों से बात कर रहा था। बाद में संस्‍था ने उसे पुलि‍स के हवाले कर दि‍या था। स्‍थानीय अदालत ने आदि‍ल को दोषी ठहराया था। आदि‍ल फि‍लहाल ब्रि‍टेन के सदरलैंड में रहता है।

आदि‍ल ने 25 वर्षीय युवक के तौर पर फर्जी अकाउंट खोल रखा था। इसी पर उसकी मुलाकात कथि‍त तौर पर एक नाबालि‍ग छात्रा से हुई थी। आदि‍ल ने ऑनलाइन चैट में कि‍शोरी से अश्‍लील तस्‍वीरें भेजने को कहा था। उसने स्‍कूली छात्रा को शारीरि‍क संबंध बनाने के लि‍ए आमंत्रि‍त भी कि‍या था। न्‍यूकैशल क्राउन कोर्ट ने आदि‍ल को एक नाबालि‍ग को यौन संबंध बनाने के लि‍ए उकसाने के मामले में दोषी ठहराया था। आदि‍ल ने कोर्ट को बताया था कि‍ नाबालि‍ग से शारीरि‍क संबंध बनाने के गैरकानूनी होने के बारे में उसे जानकारी नहीं थी। अब उसका कहना है कि‍ दोषी ठहराए जाने का यह मतलब हुआ कि‍ उसे गृह देश नहीं भेजा जा सकता है। बकौल आदि‍ल, पाकि‍स्‍तान में एक बच्‍ची से दुष्‍कर्म की घटना सामने आने के बाद गुस्‍से का माहौल है। ऐसे में पाकि‍स्‍तान जाना उसके लि‍ए सुरक्षि‍त नहीं होगा। अब वह ब्रि‍टेन में ही शरण पाने के लि‍ए आवेदन करने की योजना बना रहा है।

बड़ी खबरें

जि‍रह के दौरान आदि‍ल के वकील मोहम्‍मद रफीक ने कोर्ट को बताया कि‍ उनका मुवक्‍कि‍ल वयस्‍क की तलाश में था। उसने जानबूझकर कुछ नहीं कि‍या। मालूम हो कि‍ पाकि‍स्‍तान में एक आठ साल की एक बच्‍ची की दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या कर दी गई थी। इस बर्बर घटना से पूरा देश आंदोलि‍त है। आक्रोशि‍त लोग दोषि‍यों को सख्‍त सजा देने की मांग को लेकर वि‍रोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पाकि‍स्‍तानी सुरक्षाबलों के लि‍ए कई इलाकों में आक्रोशि‍त लोगों पर नि‍यंत्रण पाना मुश्‍कि‍ल हो गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *