North Korea fires highest ballistic missile; poses worldwide threat, says US Defense Secretary Mattis – उत्तर कोरिया ने दागी एक और बैलिस्टिक मिसाइल, जद में वाशिंगटन

उत्‍तर कोरिया ने कथित तौर पर एक अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का परीक्षण किया है। रॉयटर्स की खबर के अनुसार, विशेषज्ञों का कहना है कि अब उत्‍तर कोरिया की मिसाइलें वाशिंगटन डीसी तक पहुंच सकती हैं। उत्‍तर कोरिया ने इसी साल सितंबर मध्‍य के बाद पहली बार मिसाइल दागी है। यह मिसाइल जापान के करीब जाकर गिरी। करीब एक सप्‍ताह पहले ही अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने उत्‍तर कोरिया को उन देशों की सूची में फिर से डाल दिया था जो वाशिंगटन के अनुसार आतंकवाद का समर्थन करते हैं। इस सूची में आने वाले देशों पर अमेरिका और प्रतिबंध लगा सकता है, हालांकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि इससे तनाव और बढ़ा है। अमेरिकी प्रतिबंधों को धता बताते हुए किम जोंग उन के नेतृत्‍व में उत्‍तर कोरिया ने दर्जनों मिसाइल परीक्षण किये हैं। ट्रंप ने कसम खाई है कि वह उत्‍तर कोरिया को परमाणु मिसाइलें बनाने नहीं देंगे जो अमेरिका तक मार कर सकें।

बड़ी खबरें

उत्‍तर कोरिया के हालिया मिसाइल परीक्षण पर ट्रंप ने व्‍हाइट हाउस में कहा, ”यह ऐसी स्थिति है जिसे हम संभाल लेंगे।” टोक्‍यो में उप-मुख्‍य कैबिनेट सचिव यासुतोशी निशिमूरा ने बताया क‍ि ट्रंप और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच फोन पर बातचीत हुई जिसमें उत्‍तर कोरिया के खिलाफ और सख्‍ती बरतने पर सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि मिसाइल लॉन्‍च से उत्‍तर कोरिया के प्रति उनके प्रशासन के व्‍यवहार में कोई बदलाव नहीं आया है। वाशिंगटन ने चीन और उत्‍तर कोरिया के बीच व्‍यापार को चोट पहुंचाने के लिए कदम उठाए हैं। यह फैसले उत्‍तर कोरिया को अमेरिका तक पहुंच वाली परमाणु मिसाइल बनाने से रोकने की रणनीति का हिस्‍सा हैं।

वाशिंगटन ने बार-बार कहा है कि उत्‍तर कोरिया से निपटने के लिए सैन्‍य से लेकर सभी तरह के विकल्‍प खुले हुए हैं, मगर वह एक शांतिपूर्ण हल को प्राथमिकता देगा। उत्‍तर कोरिया के हालिया मिसाइल लॉन्‍च पर चर्चा के लिए संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद की बुधवार को बैठक होनी है। उत्‍तर कोरिया ने अपने हथियार कार्यक्रम को खत्‍म करने और कूटनीतिक बातचीत में शामिल होने को लेकर कोई संकेत नहीं दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *