Pakistan Government opposes Hafiz Saeed MML registration as a Political Party – PAK सरकार ने हाजिफ सईद की पार्टी के रजिस्ट्रेशन का किया विरोध, कहा- राजनीति में हिंसा फैलाएगी MML

26/11 मुंबई आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड और पाकिस्तानी आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पाकिस्तानी सरकार ने उसकी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) के पंजीकरण को लेकर विरोध जताया है। सरकार ने एमएमएल को राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकरण न देने के लिए कहा है। पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने एमएमएल को गैरकानूनी संगठनों की शाखा बताया है। इसके साथ ही यह कहा है कि वह राजनीति में आकर हिंसा और चरमपंथ फैलाएगी। आपको बता दें कि हाफिज सईद पाकिस्तान में साल 2018 में होने वाले आम चुनाव लड़ना चाहता है। दिसंबर महीने की शुरआत में उसने इस बाबत पुष्टि की थी कि उसका संगठन जमात-उद-दावा 2018 के आम चुनाव में एमएमएल के बैनर तले चुनाव लड़ेगा। पाकिस्तान चुनाव आयोग ने इससे पहले एमएमएल को राजनीतिक पार्टी के रुप में पंजीकृत करने से मना कर दिया था। एमएमएल ने 11 अक्तूबर को आयोग के इस फैसले को अदालत में चुनौती दी थी।

संबंधित खबरें

गृह मंत्रालय ने एमएमएल की याचिका पर इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (आईएचसी) में अपने लिखित जवाब में कहा है कि वह इस समूह के राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकरण का विरोध करता है, क्योंकि यह समूह प्रतिबंधित संस्थाओं की शाखा है। यहां के अखबार डॉन की खबर के अनुसार, सरकार ने अदालत से एमएमएल की याचिका पर विचार न करने और इसे खारिज करने की दरख्वास्त की है।

Hafiz Saeed, Hafiz Saeed release, Pakistan, Pakistan flags in up, Uttar Pradesh, Muslims celebrating release of Hafiz Saeed, Lakhimpur Kheri, Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath, Yogi Adityanath , Hindi news, Latest Hindi news, Jansatta जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद (Photo: IANS)

मंत्रालय ने सुरक्षा एजेंसी की रिपोर्ट के आधार पर अपनी राय तैयार की है, जिसमें अनुमान व्यक्त किया गया है कि एमएमएल के राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकृत होने के बाद राजनीति में हिंसा और चरमपंथ बढ़ने की आशंका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *