Pakistan reacts on allegation levelled by India regarding misbehave with Kulbhushan Jadhav’s wife and mother – कुलभूषण जाधव से मिलने गई पत्नी के जूते पाकिस्तान ने किए जब्त, भारत भड़का तो दी ये सफाई

पाकिस्तान ने भारत की इन दलीलों को खारिज कर दिया है कि कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी को परेशान किया गया। पाकिस्तान ने दावा किया कि कुलभूषण की पत्नी के जूते सुरक्षा कारणों से जब्त किए गए थे, क्योंकि उसमें “कुछ” था। विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि पाकिस्तान “शब्दों की बेमतलब लड़ाई” में शामिल नहीं होना चाहता और कुलभूषण की उनकी मां और पत्नी से मुलाकात के दौरान अधिकारियों के रवैये के बाबत भारत के बेबुनियाद ‘आरोपों’ एवं तोड़े-मरोड़े गए तथ्यों को खारिज करता है। बयान के मुताबिक, “अपना गुनाह कबूल करने वाले दोषी आतंकवादी और जासूस कमांडर जाधव, की पत्नी एवं मां की यात्रा के बारे में 24 घंटे बाद भारत की तरफ से लगाए गए बेबुनियाद आरोपों और तोड़े मरोड़े गए तथ्यों को सिरे से खारिज किया जाता है।” पाकिस्तान ने कहा, “यदि भारत की चिंताएं वाजिब होतीं तो मेहमानों या भारतीय उप-उच्चायुक्त को यात्रा के दौरान उन मुद्दों को मीडिया के पास उठाना चाहिए था, जो भारत के अनुरोध पर सुरक्षित दूरी पर उपलब्ध था।” बयान के मुताबिक, “हम शब्दों की बेमतलब लड़ाई में शामिल नहीं होना चाहते। हमारा खुलापन और हमारी पारर्दिशता इन आरोपों को झुठलाती है।”

कुलभूषण की पत्नी के जूते नहीं लौटाने के आरोप पर विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने ‘डॉन न्यूज’को बताया कि “सुरक्षा आधार पर” जूते जब्त कर लिए गए थे। फैसल ने अखबार को बताया, “(कुलभूषण जाधव की पत्नी के) जूतों में कुछ था। जूतों की जांच की जा रही है।” उन्होंने कहा कि कुलभूषण की पत्नी को दूसरे जूते दिए गए थे और उनके सारे गहने उन्हें लौटा दिए गए। प्रवक्ता ने कहा कि सच यह है कि कुलभूषण की मां ने “इंसानियत की खातिर पाकिस्तान का सरेआम शुक्रिया अदा किया, जिसे मीडिया ने भी रिकार्ड किया।”

भारत ने मंगलवार को कहा था कि इस्लामाबाद के विदेश कार्यालय में जाधव और उनकी मां व पत्नी के बीच मुलाकात से पहले दोनों महिलाओं को मंगलसूत्र, चूड़ियां, और बिदी तक उतारनी पड़ी और यहां तक कि उन्हें अपने पोशाक भी बदलने पड़े। भारत ने इस मुलाकात में ‘विश्वसनीयता का अभाव’ बताया और कहा कि यह ‘भयभीत करने वाला’ था। पाकिस्तान में कथित रूप से जासूसी और आतंकवाद के आरोप में मौत की सजा का सामना कर रहे कुलभूषण जाधव ने 22 माह बाद अपनी मां अवंति और पत्नी चेतनकुल से मुलाकात की। दोनों पक्षों के बीच शीशे की दीवार थी और इंटरकॉम के जरिए बातचीत हुई।

Kulbhushan Jadhav, Kulbhushan Jadhav Mother, Kulbhushan Jadhav wife, Mother and Wife, Meet with Bindi and Mangalasutra, Pakistan Did Not Allowed, India Reaction, India Reaction on Kulbhushan Jadhav Meeting, National News मां और पत्‍नी से मिलते कुलभूषण जाधव, क्लिक कर सभी तस्‍वीरें देखें(Photo: Pakistan Foreign Ministry)

जाधव की मां(70) को उनकी मातृभाषा में अपने बेटे से बात करने नहीं दिया गया। जब वह मराठी में बात करने की कोशिश करतीं, तो उन्हें रोक दिया जाता और हिंदी अथवा अंग्रेजी में बात करने के लिए कहा जाता। पाकिस्तान में भारत डेस्क का एक शीर्ष अधिकारी इस बातचीत पर नजर रखे हुए था। भारत ने अपने बयान में कहा, “सुरक्षा कारणों का हवाला देकर, परिजनों की सांस्कृतिक व धार्मिक संवेदनशीलता पर ध्यान नहीं दिया गया। उन्हें मंगलसूत्र, चूड़ियां, और बिदी तक उतारनी पड़ी और यहां तक कि अपने पोशाक भी बदलने पड़े।”

बयान के अनुसार, “जाधव की मां को उनके मातृभाषा में बात करने नहीं दिया गया, जबकि यह संचार का सहज माध्यम है। ऐसा करने पर उन्हें लगातार रोका गया और इसे आगे नहीं दोहराने के लिए कहा गया।” जाधव की पत्नी के जूते भी ले लिए गए और उसे बाद में नहीं लौटाया गया। भारत ने कहा, “कुछ असाधारण कारणों से, उनके बार-बार आग्रह करने के बावजूद, मुलाकात के बाद जाधव की पत्नी के जूते नहीं लौटाए गए।” इस पर भारत ने कहा, “इस संबंध में हम किसी भी शरारती मंशा के खिलाफ पाकिस्तान को चेतावनी देते हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *