Pakistani youth booked for treason for writing ‘Hindustan Zindabad’ on his house wall – पाकिस्तान में ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ लिखने पर युवक पर देशद्रोह का केस दर्ज

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा में एक युवक ने अपने घर की दीवार पर ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ लिख दिया था। इस बात पर युवक पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। डेली एक्सप्रेस के ने पुलिस का हवाला देते हुए लिखा है कि साजिद शाह ने नारा अमाजी इलाके में अपने घर की बाहरी दीवार पर हिंदुस्तान जिंदाबाद लिखा। पुलिस ने बताया कि उस पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने उससे दीवार पर से हिंदुस्तान जिंदाबाद मिटाने के लिए कहा क्योंकि इससे उनके राष्ट्रीय सम्मान को चोट पहुंची है। कुछ लोगों ने अपने फोन से इसकी फोटो खींचकर सीनियर पुलिस अधिकारी को ईमेल कर दीं। अधिकारी ने बताया कि उच्च अधिकारियों के आदेश पर मामला दर्ज कर लिया है।

आपको बता दें कि अपनी महिला मित्र से मिलने के लिए अफगानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान आए एक भारतीय इंजीनियर की मां ने बेटे की सजा कम करने के लिए पाक सरकार से गुहार लगाई है। उन्होंने पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन को इस संबंध में एक चिट्ठी लिखी है। इसमें उन्होंने गुजारिश की है कि उनके बेटे की सजा की अवधि को पाकिस्तान माफ कर दे।

बड़ी खबरें

हुसैन को लिखी चिट्ठी में हामिद अंसारी की मां ने कहा है, “मोहतरम सदर- आपकी हुकूमत ने हामिद अंसारी के मुकाबले ज्यादा संगीन जुर्म करने वाले विदेशी नागरिकों पर भी रहम किया है।” उन्होंने चिट्ठी में आगे लिखा है, “अगर आप हामिद की कैद की बकाया मुद्दत माफ कर सकते हैं, तो मानवीय आह्वान सुनने से देश की साख बढ़ेगी। वहीं, इससे हिंदुस्तानी जेलों में कैद पाकिस्तानी अवाम के लिए राहत की उम्मीद और मजबूत होगी।”

आपको बता दें कि भारतीय नागरिक पर एक सैन्य अदालत में मुकदमा चलाया गया, जिसने उसे तीन साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई। सजा की मियाद 15 दिसंबर, 2015 को शुरू हुई और अगले साल 14 दिसंबर को खत्म होगी। अंसारी मुंबई का रहने वाला है। पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग के मुताबिक, भारत के एक प्रबंधन संस्थान में सहायक प्रोफेसर रहे अंसारी और पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कोहाट की रहने वाली एक लड़की में फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई। अपनी दोस्त को संकट में देखकर उसने उसके बचाव का फैसला किया। उसे पाकिस्तान का वीजा नहीं मिल सका, लेकिन वह अफगानिस्तान गया और वहां से बिना वैध दस्तावेजों के पाकिस्तान में प्रवेश किया। उसे 14 नवंबर, 2012 को कोहाट के एक होटल से गिरफ्तार कर लिया गया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *