अमित शाह ने दिया राज्‍यसभा में पहला भाषण, कहा- पकौड़ा बनाना शर्म की बात नहीं – bjp president and Rajya sabha mp Amit shah delivers his first speech in parliament says making pakoda is not a matter of shame attacks congress for its failure

बीजेपी अध्यक्ष और राज्य सभा सांसद अमित शाह ने सोमवार (5 फरवरी) को संसद में अपना पहला भाषण दिया। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा पर करते हुए अमित शाह कांग्रेस सरकार पर जमकर बरसे। अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार को कांग्रेस का गड्ढ़ा भरने में वक्त लगा, उन्होंने कहा कि हमें ये गड्ढ़ा विरासत में मिला। अमित शाह ने कहा कि गड्ढा भरने के बाद हमारी उपलब्धियों को आप अलग नजरिये से देखें। अमित शाह ने कहा, “देश में 55 साल तक एक ही पार्टी का राज रहा। बल्कि मैं कहूंगा कि एक ही परिवार का राज रहा। बावजूद इसके आज इतने दिनों तक राज करने वाले लोग समस्याएं गिना रहे हैं, हम इन चुनौतियों को स्वीकार करते हैं, लेकिन इसे ठीक करने में वक्त लगेगा।” अपने भाषण में अमित शाह पीएम के बहुचर्चित बयान ‘पकौड़ा रोजगार’ का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता चिदंबरम पकौड़ा बेचने वालों की तुलना भिखारियों से कर रहे थे, लेकिन वह बताना चाहेंगे कि पकौड़ा बेचना शर्म की बात नहीं है। अमित शाह ने कहा, “अभी मैं चिदंबरम साब का ट्वीट पढ़ रहा था कि मुद्रा बैंक के साथ किसी ने पकौड़े का ठेला लगा लिया, इसको रोजगार कहते हैं? हां मैं मानता हूं कि भीख मांगने से अच्छा है कि कोई मजदूरी कर रहा है, उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी तो उद्योगपति बनेगी।” अमित शाह ने कहा कि चाय वाले का बेटा आज प्रधानमंत्री बनकर इस सदन में बैठा है।

बड़ी खबरें

अमित शाह ने सदन में केंद्र की उपलब्धियां गिनाई। उन्होंने कहा कि वह गरीब घर में पैदा नहीं हुए हैं, लेकिन उन्होंने गरीबी देखी है। अमित शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार देश की जनता को गरीबी के कुचक्र से बाहर निकालने के लिए अंत्योदय के सिद्धांत पर काम कर रही है। यानी कि सबसे पिछली कतार में खड़े लोगों को आगे लाने की कोशिश। अमित शाह ने कहा सरकार ने करोड़ों माओं को धुएं के जहर से मुक्ति दिलाई अब सरकार का लक्ष्य आठ करोड़ गरीब महिलाओं को यह सुविधा देना है। उन्होंने स्वच्छता योजना का जिक्र किया। अमित शाह ने कहा कि शौचालय नहीं होता है तो बेटियों का आत्मविश्वास मरता है। इसलिए सरकार देश में तेजी से शौचालय बनवा रही है।

 बीजेपी के राज्यसभा सदस्य ने जनधन योजना का जिक्र किया और कहा आज देश में लगभग 31 करोड़ जनधन खाते हैं, और इन खातों में लगभग 73 हजार करोड़ रुपये जमा हैं। अमित शाह ने दावा किया है बीजेपी की सरकार ने हाशिये पर खड़े लोगों को मुख्य आर्थिक धारा में लाकर खड़ा किया। अमित शाह ने कहा कि बीजेपी ने कभी जीएसटी का विरोध नहीं किया था बल्कि इसके तरीकों का विरोध किया था। उन्होंने कहा, “सेस घटने से राज्यों को नुकसान हुआ वो यूपीए सरकार को चुकाना था लेकिन नहीं चुकाया, एनडीए ने 37 हजार करोड़ रुपये चुकाये। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहने पर भी अमित शाह बरसे। उन्होंने कहा, “सभी की सहमति से फैसला हुआ, और नाम क्या दिया गब्बर सिंह टैक्स, कौन है गब्बर सिंह? शोले फिल्म में डकैत का नाम था। कानून के जरिये टैक्स वसूलना डकैती है क्या?”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *