अर्जित चौबे की बढ़ी मुश्किलें, जमानत याचिका खारिज, मंत्री पिता बोले- राजद, कांग्रेस ने कराया दंगा – Union Minister Ashwini Kumar Choubey, Arjit Shashwat Choubey, BJP Leader, Bhagalpur Communal Tenssion, Narendra Modi

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत चौबे की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 17 मार्च को भागलपुर में उपद्रव फैलाने के मामले में आज (31 मार्च को) भागलपुर कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। शाश्वत के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट है, मगर वो फरार चल रहे हैं। इस बीच उनके पिता और केंद्रीय मंत्री ने बिहार में विपक्षी दल राजद और कांग्रेस पर दंगा भड़काने का आरोप लगाया है। नई दिल्ली में उन्होंने शनिवार को राजद और कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र और राज्य की राजग सरकार ऐसे प्रयासों के खिलाफ कड़ा कदम उठाएगी। उन्होंने दावा किया कि केंद्र और बिहार सरकार ने बिहार में दंगे भड़काने के प्रयासों को नाकाम कर दिया है। हालांकि राजद और कांग्रेस अराजकता फैलाना चाहती हैं। मंत्री ने कहा कि हाल के दिनों में बिहार में सांप्रदायिक संघर्ष में काफी बढ़ोतरी हुई है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘हम दंगा भड़काने के राजद और कांग्रेस की मंशा को परास्त करेंगे। षड्यंत्रकारी दंगा चाहते हैं लेकिन कोई भी ऐसा नहीं कर पाया और हमने बिहार को नियंत्रण में रखा है। बिहार सरकार और केंद्र मिलकर राज्य में सौहार्द खराब करने के प्रयासों को हराएंगे।’’ बिहार के नवादा में भी शुक्रवार (29 मार्च) को सांप्रदायिक दंगे हुए थे जहां दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की गई थी और एक होटल में आग लगा दी गई थी।

संबंधित खबरें

बता दें कि 17 मार्च को भागलपुर में भी हिंसा हुई थी। वहां एक धार्मिक जुलूस का नेतृत्व अश्विनी चौबे के ही पुत्र अर्जित शाश्वत कर रहे थे। अर्जित शाश्वत भाजपा नेता हैं और भागलपुर से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। विपक्षी दल राजद और कांग्रेस ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर शाश्वत की गिरफ्तारी में शिथिलता बरतने का आरोप लगाया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले अस्विनी चौबे ने कहा था कि उनके बेटे शास्शवत ने कोई गलती नहीं की है, इसलिए वो सरेंडर नहीं करेगा।

अर्जित के अलावा जिनके खिलाफ वारंट जारी हुए है उनमें देव कुमार पांडे, अनूप लाल साह, प्रणब साह, अभय घोष सोनू, प्रमोद वर्मा, निरंजन सिंह, संजय भट्ट और सुरेंद्र पाठक शामिल है। नामजद बनाए जाने पर अर्जित ने कहा था कि क्या भारत माता की जयकार करना या वंदे मातरम गुनाह है?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *