कश्‍मीर में हमले पर सपा नेता बोले- आतंकवादी ये हाल कर रहे हैं, पाकिस्‍तानी फौज आ जाएगी तो क्‍या होगा?

श्रीनगर के श्री महाराज हरि सिंह अस्‍पताल में आतंकी हमले और एक पाकिस्‍तानी दहशतगर्द के भागने पर सियासत शुरू हो गई है। समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता और राज्‍यसभा सदस्‍य नरेश अग्रवाल ने जम्‍मू-कश्‍मीर में बिगड़ते हालात को लेकर नरेंद्र मोदी की सरकार पर तीखा हमला बोला है। उन्‍होंने मंगलवार (6 फरवरी) को संसद के बाहर कहा, ‘गृह मंत्री (राजनाथ सिंह) कहते हैं कि शहादत खाली नहीं जाएगी…कोई हमारी तरफ आंख नहीं उठा सकता है। रक्षा मंत्री भी बयान देती हैं, लेकिन आंख तो रोज उठ रही है। अगर आतंकवादी ये हाल कर रहे हैं तो पाकिस्‍तानी फौज आएगी तो क्‍या हालत होगी। देश को कड़े निर्णय लेने चाहिए।’ अस्‍पताल पर आतं‍की हमले से मची अफरातफरी का फायदा उठा कर पाकिस्‍तानी आतंकी नवीद जट्ट उर्फ अबु हंजुला फरार होने में कामयाब रहा था। इसमें दो पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए। श्रीनगर में अस्‍पताल पर आतंकी हमले की घटना ऐसे समय सामने आई है जब सीमा पार से पाकिस्‍तान संघर्ष विराम का उल्‍लंघन कर लगातार गोले बरसा रहा है। इससे दोनों देशों के संबंध पहले ही तनावपूर्ण हैं।

संबंधित खबरें

सपा नेता नरेश अग्रवाल के तंज पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है। कन्‍हैया कुमार ने ट्वीट किया, ‘सपा के मणिशंकर अय्यर।’ एक अन्‍य व्‍यक्ति ने लिखा, ‘ऐसे नेता भारत में पाकिस्‍तान का मत पेश कर रहे हैं। पाकिस्‍तान के एजेंट भारतीय संसद में बैठकर भारत को धमका रहे हैं।’ समरेश ने ट्वीट किया, ‘इस मंदबुद्धि को कोई सदबुद्धी का आशीर्वाद दो।’ वहीं, कैप्‍टन चेतन पांडे ने लिखा, ‘क्‍या होगा पाकिस्‍तान आर्मी आ गई तो? यह किस तरह का शर्मनाक बयान है।’ दर्शित जोशी ने ट्वीट किया, ‘देश के निर्णय से अच्‍छा आप अपना निर्णय बता देते। खोखली सलाह की जगह अपना पक्ष स्‍पष्‍ट कर देते। आप युद्ध चाहते हैं या नहीं? क्‍या आप युद्ध का समर्थन करते हैं?’ नवनीत ने लिखा, ‘अगर पाकिस्‍तानी फौज इतनी ही मजबूत होती तो फिर आतंकवादियों का सहारा क्‍यों लेती? ये लोग ऐसे ही भारत में बैठ कर पाकिस्‍तान का गुणगान करते हैं।’ आनंद गुप्‍ता ने ट्वीट किया, ‘सभी पार्टियां यदि चुनावी हित छोड़कर देशहित में बात करें और सर्जिकल स्‍ट्राइक जैसे संवेदनशील मुद्दों पर प्रश्‍नचिह्न नहीं लगाए, विदेश में जाकर देश की स्थिति के बारे में अनर्गल न बोले, तुष्टिकरण छोड़ दे तो निश्चित तौर पर भारत की ओर कोई आंख नहीं उठा सकता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *