जम्मू हमला: ओवैसी की पार्टी के प्रवक्ता ने कहा- मुंह से मिसाइल चला रही है मोदी सरकार – terrorists attacks Sunjwan army camp in Jammu and Kashmir 2 jco martyred aimim Asaduddin Owaisi says pm narendra modi led bjp govt firing only mouth missile

जम्मू कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप में हुए आतंकी हमले में सेना के दो जवान शहीद हो गये हैं। इस हमले को लेकर देश में जबर्दस्त गुस्सा है। देश के सभी राजनीतिक दलों ने पाकिस्तानी आतंकियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई की मांग की है। न्यूज चैनल आज तक में इसी मुद्दे पर एक बहस के दौरान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के एक नेता नेरंद्र मोदी सरकार पर जमकर बरसे। AIMIM नेता असीम वकार ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार सिर्फ मुंह से मिसाइल और मुंह से बंदूकें चला रही है। असीम वकार ने कहा कि अब आतंकवादियों पर सर्जिकल स्ट्राइक नहीं बल्कि डायरेक्ट स्ट्राइक की जरूरत है। असीम वकार ने कहा, ” हमलोग तो सोचते थे, चुनाव से पहले कहा जाता था कि एक के बदले दस सिर लाएंगे, सुकून था दिल में, लेकिन आज तो पोजिशन ये है कि दस जवानों के बदले एक सिर ले के नहीं आ पा रहे हैं।” असीम वकार ने आगे कहा, “अब मुंह से मिसाइल चल रही है, मुंह से रॉकेट चल रहा है, ओवैसी साहब की पार्टी का प्रवक्ता होने के नाते, मैं मुसलमानों की तरफ से भारत सरकार से मांग करता हूं कि मुंह से बंदूक मत चलाइए, पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दीजिए।”

संबंधित खबरें

असीम वकार ने सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि अब सर्जिकल स्ट्राइक का भी वक्त नहीं रहा है अब डायरेक्ट स्ट्राइक की जरूरत है। वकार ने कहा, “अब मौलाना मसूद अजहर हो या कोई और सीधी कार्रवाई की जरूरत है। हांलाकि एंकर रोहित सरदाना ने कहा कि आप सिर्फ मुसलमानों की तरफ से कैसे अपील कर सकते हैं क्या बाकी लोग वोट नहीं देते हैं। इस पर असीम वकार ने कहा कि उनकी ये अपील सभी की तरफ से हैं। बता दें कि जम्मू में आर्मी कैंप पर हमला सरकार के लिए काफी चिंता की बात है। इससे पहले खुफिया रपटों में कहा गया था कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की पांचवीं बरसी पर हमले की साजिश रच रहे थे। अफजल गुरु को नौ फरवरी, 2013 को तिहाड़ जेल में फांसी दी गई थी। इससे पहले शनिवार (10 फरवरी) को जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा के अध्यक्ष कवींद्र गुप्ता ने इस हमले के तार रोहिंग्या शरणार्थियों से जुड़े बताए थे, जिसके बाद विधानसभा में काफी हंगामा हुआ। सदन में हंगामे के बाद में उन्होंने हालांकि अपना बयान वापस ले लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *